Top
undefined

खर्राटों की समस्या को हल्के में ना लें, यह हो सकती है गंभीर बीमारी

खर्राटों की समस्या को हल्के में ना लें, यह हो सकती है गंभीर बीमारी
X

खर्राटे आने की कई वजह हो सकती है, जैसे की नाक में सूजन, एलर्जी, स्लीपिंग डिसऑर्डर, अधिक धूम्रपान, शराब व नशीले पदार्थों का सेवन, जीभ मोटी होना, आदि। इसके अतिरिक्त गलत ढंग से सोने की वजह से भी खर्राटे आते हैं।

दुनियाभर में खर्राटों की समस्या काफी आम है। आपने देखा होगा कि कुछ लोग रात को सोते समय जोर-जोर से खर्राटे भरते हैं। लेकिन, इसका जरा सा भी एहसास उन्हें नहीं होता है। ऐसे में वो लोग या उनके पार्टनर इस समस्या से बेहद परेशान रहते हैं, जिस कारण उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती है।

आखिर क्यों आते हैं खर्राटे?

खर्राटे आने की कई वजह हो सकती है, जैसे की नाक में सूजन, एलर्जी, स्लीपिंग डिसआर्डर, अधिक धूम्रपान, शराब व नशीले पदार्थों का सेवन, जीभ मोटी होना, आदि। इसके अतिरिक्त गलत ढंग से सोने की वजह से भी खर्राटे आते हैं। अक्सर लोगों को सर्दी-खांसी की समस्या होने पर भी खर्राटे आते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि कफ नाक के रास्ते में फंस जाता है, जिससे सांस लेने में तकलीफ होती है और खर्राटे आते हैं।

ये हैं घरेलू व सरल इलाज जो आपकी या आपके पार्टनर के खर्राटों की समस्या से निजात तो दिलाएंगे ही, साथ ही आपको अच्छी नींद भी दिलाएंगे-

सोने का तरीका बदलेंः अक्सर खर्राटों की समस्या गलत सोने के तरीके से भी हो जाता है, इसलिए जरूरी है कि आप अपनी स्लीपिंग पोजीशन बदल लें। वैसे पीठ के बल सोने से खर्राटे आने की संभावना ज्यादा होती है, इसलिए लेफ्ट या राइट करवट लेकर सोएं। इसके अलावा सिर के नीचे ऊंचा तकिया रख के सोएं। साथ ही, नाक साफ न होने की वजह से भी खर्राटे आते हैं, इसलिए नाक साफ कर के सोएं।

पानी पीने की मात्रा बढ़ाएंः पानी सेहत के लिए अमृत के समान है। शरीर में इसकी कमी कई समस्याओं को जन्म दे सकती है, इसमें से एक खर्राटे की समस्या है। पानी की कमी से नाक के रास्ते की नमी चली जाती है, और सांस लेने में दिक्कत के साथ खर्राटें भी आने लगते हैं। तो इसलिए बेहतर है, दिनभर में 8 से 10 गिलास पानी जरूर पिएं।

हल्दी वाला दूध व इलायची लेंः हल्दी वाला दूध काफी गुणकारी होता है। इसका सेवन सोने से पहले जरूर करें। साथ ही इलायची खाने से गले के अंदर हवा आने-जाने में दिक्कत नहीं होती और खर्राटों में कमी आती है। इसके लिए आप एक गिलास पानी में आधा या एक चम्मच इलायची पाउडर मिलाएं और सोने से आधा घंटा पहले उसका सेवन करें। नियमित रूप से इसका सेवन खर्राटे की समस्या को खत्म कर सकता है।

डाइट पर ध्यान दें व गर्दन का फैट कम करेंः अक्सर लोग बाहर का खाना, शराब, धूम्रपान, ज्यादा मीठा व जंक फूड का सेवन करते हैं, जिसका असर उनके शरीर पर पड़ता है। ऐसे में गले के आस-पास ज्यादा फैट जम जाता है, जिससे गले में सिकुड़न होती है, और इसी वजह से खर्राटे आते हैं। ऐसे में प्रभावित लोगों को अपनी डाइट पर ध्यान देना चाहिए और डाइट में फल, हरी सब्जियां, नट्स, बींस व सीड्स अवश्य शामिल करने चाहिए।

जैतून का तेलः जैतून का तेल सूजन से राहत दिलाने में कारगर है। इसके इस्तेमाल से खर्राटों को रोकने में मदद मिलती है। इसके लिए आपको रात में सोने से पहले जैतून तेल की एक या दो घूंट लें या फिर उसमें शहद मिलाकर उसका सेवन करें। इससे गले के अंदर हवा के पास होने में कोई परेशानी नहीं होती है।

घीः घी के इस्तेमाल से खर्राटे की समस्या दूर हो सकती है। क्योंकि इसमें कुछ ऐसे गुण हैं, जो नाक के जमाव को कम करने में मदद करते हैं। आपको इसके लिए घी को हल्का गर्म करना होगा और फिर एक-दो बूंद अपनी नाक के दोनों छिद्रों में डालना है। यदि आप रात को सोने से पहले ऐसा नियमित तौर पर करेंगें तो आपको यकीनन फायदा मिलेगा।

Next Story