Top
undefined

मेरठ में संत रविदास जयन्ती शोभायात्रा के विवाद में फायरिंग, महिला की मौत

मेरठ में संत रविदास जयन्ती शोभायात्रा के विवाद में फायरिंग, महिला की मौत
X

मेरठ । सरधना इलाके के ईकड़ी गांव में मंदिर कमेटी और रविदास शोभायात्रा के विवाद में घर में घुसकर अंधाधुंध गोलियां बरसाने से दहशत फैल गई । हमले में महिला की मौके पर ही मौत हो गई। महिला के पति, बेटे और बेटी को भी गोली लगी है।

बताया गया है कि गांव में एक दिन पहले संत रविदास जयंती पर शोभायात्रा निकालने को लेकर मंदिर कमेटी की बैठक में विवाद हुआ था। इस दौरान पीड़ित पक्ष ने अपने ही भतीजों पर चंदे में घोटाले का आरोप लगाया था। इसके बाद विवाद हुआ। दोनों पक्षों के बीच पुरानी रंजिश भी चली आ रही है। बताया जाता है कि मारी गई महिला के सगे भतीजों ने हथियारों से लैस होकर वारदात को अंजाम दिया है। ईकड़ी गांव में संत रविदास का मंदिर है। मंदिर से हर साल गांव में शोभायात्रा निकाली जाती है। इस वर्ष भी शोभायात्रा निकालने को लेकर मंदिर कमेटी के लोग तैयारियां कर रहे थे। सोमवार शाम मंदिर परिसर में कमेटी की बैठक बुलाई गई, जिसमें गांव के ही सिंभू को भी बुलाया गया। कमेटी ने शोभायात्रा निकालने को लेकर प्रस्ताव रखा। सिंभू ने कमेटी द्वारा जुटाए गए चंदे की रकम में धांधली का आरोप लगाया। आरोप लगाया कि मंदिर कमेटी का पैसा उसके भतीजों परवेश, सोहनवीर, निर्देश और अरविंद समेत कई लोग बांटकर खा गए हैं। इसी को लेकर बैठक में सिंभू और उसके ही कुनबे के लोगों के बीच हाथापाई हो गई। दूसरे पक्ष ने सिंभू को धमकी दी। कुछ लोगों ने इस विवाद को वहीं निपटा दिया और सिंभु को घर भेज दिया।

धमकी के बाद 24 घंटे तक घर से नहीं निकला था

सोमवार को घटना के बाद सिंभू को धमकी दी गई थी। इस कारण वह गांव में बाहर नहीं गया। मंगलवार को पूरे दिन घर पर रहा। मंगलवार शाम करीब 4.30 बजे सिंभू के भतीजों ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर सिंभू के घर पर हमला बोल दिया। मकान में अंदर घुसकर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं और धारदार हथियारों से हमला किया। गोली लगने से सिंभू की पत्नी मुकेश (43) की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि सिंभू, उनका बेटा आदेश व बेटी ममता घायल हो गए।

गांव में गोलियों की आवाज सुनकर ग्रामीण वहां पहुंचे तो आरोपी तमंचे लहराते हुए फरार हो गए। ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी और सभी घायलों को सीएचसी ले आए। सूचना के बाद पुलिस में भी हड़कंप मच गया। आनन फानन में सीओ आरपी शाही, इंस्पेक्टर ब्रिजेश कुमार मौके पर पहुंचे। घायलों को मेरठ रेफर किया गया।

Next Story