Top
undefined

पटाखे ने ली नौ साल के मासूम की जान

पटाखे ने ली नौ साल के मासूम की जान
X

नयी दिल्ली। तेज आवाज वाले पटाखे बेचने और खरीदने पर पाबंदी के बावजूद खुले आम बिक रहे पटाखे ने नौ साल के एक मासूम बालक की जान ले ली।

बताया गया है कि नौ साल का मासूम पटाखे पर स्टील का गिलास रखकर उसे पटकाने की कोशिश कर रहा था। पटाखे के नहीं पटखने पर वह उसे देखने नजदीक गया। इसी दौरान तेज धमाके के बाद गिलास के टुकड़े बच्चे के शरीर में घुस गए। उसे पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृत बच्चे की शिनाख्त प्रिंस दास (9) के रूप में हुई है। वह परिजनों के साथ ओउम कॉलोनी बख्तावरपुर में रहता था। वह शांति निकेतन पब्लिक स्कूली चौथी कक्षा में पढता था। उसके पिता राम रखबाल दास निजी कंपनी में नौकरी करते हैं जबकि मां बबीता देवी खेतों में काम करती है।

बुधवार को उसके माता-पिता काम पर गये थे। अन्य बच्चों की तरह प्रिंस इलाके की किसी दुकान से पटाखे खीदकर लाया था। उसके बाद वह पड़ोस के बच्चों के साथ खाली प्लॉट में पटाखे चलाने के लिए चला गया। इसी दौरान यह हादसा हो गया।

स्थानीय लोगों का कहना है कि इलाके में पटाखे बेचने पर कोई पाबंदी नहीं है। छोटे से परचून की दुकान में भी चोरी छिपे पटाखे बेचे जाते हैं। परिजनों का कहना है कि ऐसे पटाखे पर पूरी तरह से प्रतिबंध होना चाहिए और बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

Next Story