Top
undefined

पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण को लेकर केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय गंभीर, 1 अक्टूबर को बुलाई 5 राज्यों की समीक्षा बैठक

दिल्ली / एनसीआर में प्रदूषण की समस्या दिनोंदिन विकराल होती जा रही है। प्रदूषण कम करने के लिए सरकार बहुतेरे उपाय अपनाती है लेकिन कटाई सीजन में हालात बेकाबू हो जाते हैं। दिल्ली / एनसीआर से लगे हुए राज्यों में किसान फसल काटने के बाद खेत में पड़े अवशेष में आग लगा देते हैं इससे पूरा आसमान काला हो जाता है। दिल्ली / एनसीआर में पराली जलाने की वजह से लोगों को स्वास्थ संबंधी गंभीर दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। दिल्ली / एनसीआर में सर्दियों में पराली के कारण होने वाले प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय 01 अक्टूबर को पांच राज्यों के साथ समीक्षा बैठक करने जा रहा है। यह समीक्षा बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित होगी। समीक्षा बैठक में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तरप्रदेश समेत दिल्ली के पर्यावरण मंत्री, पर्यावरण सचिव प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, स्थानीय निकाय के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। केंद्र सरकार में पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को जानकारी दी कि दिल्ली-एनसीआर अक्टूबर की 15 तारीख से पंजाब और हरियाणा में जलाई जाने वाली पराली से प्रदूषण की स्थिति बिगड़ जाती है। उन्होंने बताया इस प्रदूषण की समस्या का समाधान निकालने के लिए बैठक बुलाई गई है। आपको बता दें इस संबंध में पांच राज्यों के सहयोग से प्रदूषण का समाधान करने के लिए साल 2016 में प्रयास शुरू किया गया था। प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि साल 2016 में प्रधानमंत्री ने नेशनल एयर क्वालिटी इंडेक्स लॉन्च किया। उन्होंने कहा इस गंभीर समस्या को महसूस किये बगैर समाधान होना नामुमकिन है अतः पहले समस्या को मानने की आवश्कता है। प्रकाश जावड़ेकर ने बताया उन्होंने कि इस संबंध में कैबिनेट सेक्रेटरी की बैठक हुई, प्रिंसीपल सेक्रटरी की अध्यक्षता में बैठक हुई, पर्यावरण सचिव ने दो बैठकें की और सीपीसीबी ने 4 बैठकें की। उन्होंने कहा इस गंभीर समस्या को सुलझाने के लिए हम दिल्ली / एनसीआर की सीमा से लगे प्रदेशों की मदद लेंगे । जावड़ेकर ने कहा कि केन्द्र सरकार के प्रयासों से वाहन प्रदूषण में कमी आई है। उन्होंने जोर देते हुए कहा जिस तरह केंद्र सरकार गंभीरता के साथ इस समस्या को सुलझाने का काम कर रही है वैसे ही प्रयास राज्यों को भी करनेे की जरुरत है। प्रकाश जावड़ेकर ने सब का आवाहन करते हुए कहा इसमें बिना राजनीति के प्रदूषण से लोगों को राहत देने के लिए सभी को साथ आना चाहिए।

Next Story