Top
undefined

कृषि विधेयकों को विपक्ष के समर्थन का भरोसा

कृषि विधेयकों को विपक्ष के समर्थन का भरोसा
X

नई दिल्ली। विपक्ष और अकाली दल के विरोध के बीच कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने खेती-किसानी से जुड़े तीन अहम विधयक राज्यसभा में पेश किया। अब सरकार को उम्मीद है कि कुछ निर्दलीय सांसदों के समर्थन से इसे पास करा लिया जाएगा। कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक, 2020 और कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020 बिल को राज्यसभा में पेश करते हुए तोमर ने कहा कि कृषि सुधार से जुड़े ये कानून किसानों के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव लाने वाले हैं

तोमर ने कहा कि किसानों को अपनी फसल किसी भी स्थान से किसी भी स्थान पर मनचाही कीमत पर बेचने की आजादी मिलेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इन बिलों को लेकर कई तरह की गलत धारणाएं बनाई गई हैं. यह बिल एमएसपी से संबंधित नहीं है। प्रधानमंत्री ने भी ये कहा है कि एमएसपी जारी है और आगे भी जारी रहेगी। इन विधेयकों के माध्यम से किसानों के जीवन में बदलाव आएगा। 245 सदस्यों की राज्यसभा में बीजेपी 86 सांसदों के साथ सबसे बड़ी पार्टी है। 2 स्थान रिक्त हैं। ऐसे में राज्यसभा में इन तीनों बिलों को पास करवाने के लिए सरकार को कम से कम 122 वोट की जरूरत पड़ेगी। अकाली दल के विरोध के बावजूद सरकार को भरोसा है कि बीजू जनता दल के 9, एआईएडीएमके के 9, टीआरएस के 7 और वाईएसआर कांग्रेस के 6, टीडीपी के 1 और कुछ इंडिपेंडेंट सांसद भी इस विधेयक का समर्थन कर सकते हैं।


Next Story