Top
undefined

दारोगा का शव अस्पताल ने बनाया बंधक, दोस्त बोला-मेरी किडनी ले लो

दारोगा का शव अस्पताल ने बनाया बंधक, दोस्त बोला-मेरी किडनी ले लो
X

मेरठ। हापुड़ जिले में तैनात सब इंस्पेक्टर की मेरठ के अस्पताल में बीमारी से मौत हो गई। अस्पताल पर लाश को बंधक बनाने का आरोप लगाते हुए परिजनों ने जमकर हंगामा किया। एक साथी इंस्पेक्टर ने अस्पताल प्रबंधन से इतना तक कह दिया कि मेरी किडनी ले लो, मगर दोस्त का शव दे दो।

संभल जिले में एंचैली गांव के मूल निवासी 30 वर्षीय निक्की मियां यूपी पुलिस में सब इंस्पेक्टर थे। फिलहाल उनकी तैनाती हापुड़ जिले में बहादुरगढ़ थाने पर थी। बीमारी के चलते 21 अक्तूबर को निक्की मियां को मेरठ के गढ़ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। शनिवार तड़के चार बजे हार्ट फेल होने से उनकी मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि अस्पताल की ओर से 70 हजार रुपये मांगे जा रहे हैं। सूचना पर साथी पुलिसकर्मी पहुंच गए। इंस्पेक्टर अजहर हसन ने यह तक कह दिया कि मेरी किडनी निकाल लो और दोस्त की लाश दे दो। पुलिस की मध्यस्थता के बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया और परिजन शव ले गए। अस्पताल प्रशासन ने इस विषय पर कुछ भी बोलने से इनकार किया। मैनेजमेंट का कहना है कि सारे काम नियमानुसार ही होते हैं। आरोप तो कोई कुछ भी लगा सकता है।

Next Story