Top
undefined

कोरोना काल में संसद की कैंटीन बंद, महंगा मिलेगा बाहर का खाना

बंगाली मार्केट के प्राइवेट रेस्तरां से खाना और नाश्ता मंगाया जाएगा। अलग-अलग दिनों के हिसाब से नाश्ते की व्यवस्था रहेगी।

कोरोना काल में संसद की कैंटीन बंद, महंगा मिलेगा बाहर का खाना
X

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के खतरे के चलते संसद के माॅनसून सत्र में कैंटीन को बंद रहेगी, लेकिन इस दौरान सांसदों, संसद के कर्मचारियों और मीडिया के लिए बाहर से पैक्ड नाश्ता और खाना आएगा। इसके लिए एक दिन पहले ही एडवांस आॅर्डर और पेमेंट करना होगा।

जानकारी के मुताबिक, रेलवे द्वारा संसद में संचालित की जाने वाली कैंटीन को बंद कर दिया गया है। इस दौरान बंगाली मार्केट के प्राइवेट रेस्तरां से खाना और नाश्ता मंगाया जाएगा। अलग-अलग दिनों के हिसाब से नाश्ते की व्यवस्था रहेगी। सांसद और कर्मचारी 28 रुपये में चीज रोल, 70 रुपये में स्प्रिंग रोल, 10.90 रुपये में समोसा, 75 रुपये में वेज कबाब ले सकेंगे। इसके अलावा 16.35 रुपये में काला जामुन, 12.40 रुपये में गुलाब जामुन और 12.50 रुपये में रसगुल्ला मिलेगा। नाश्ते में अलग-अलग रेट के हिसाब से कुछ और चीजें भी रखी गई हैं। बात करें खाने की तो 105 रुपये की नाॅर्थ इंडियन थाली में 2 तवा रोटी, पनीर की सब्जी, मिठाई, दाल, अचार, रायता या दही और जीरा चावल या मटर पुलाव मिलेगा। वहीं 110 रुपये की साउथ इंडियन थाली में एक इडली, एक वड़ा, एक मिनी डोसा, एक मिनी उत्थपम, सांभर और चटनी मिलेगी। कार्ड बोर्ड बाॅक्स के लिए 3 से 5 रुपये, डिस्पोजेबल गिलास के लिए 1 रुपये और पेपर प्लेट के लिए 2 रुपये निर्धारित किए गए हैं।

इससे पहले संसद भवन की कैंटीन में खाने पर मिलने वाली सब्सिडी को खत्म करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई थी। सांसदों के खाने की सब्सिडी पर सालाना 17 करोड़ रुपये का बिल आता है। आपको बता दें कि अब तक शाकाहारी थाली 30 रुपये ेऔर थ्री कोर्स मील 90 रुपये में मिलता था।

Next Story