Top
undefined

रूपक शर्मा के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा

परिजनों को पता चला कि रूपक का शव सरधना थाना क्षेत्र के कुशावली के रहवाहे में लहूलुहान अवस्था में पड़ा हुआ है।

रूपक शर्मा के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा
X

मुजफ्फरनगर। पिपललेडा गांव के युवा रूपक शर्मा के हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर इलाके के ग्रामीणों ने खतौली थाने पर हंगामा किया। उन्होंने पुलिस पर इस मामले में लापरवाही का आरोप लगाया।

ग्रामीण रूपक शर्मा के हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर ग्रामीणों के प्रदर्शन में रालोद प्रवक्ता अभिषेक चौधरी गुर्जर, क्षेत्रीय महासचिव धर्मेन्द्र तोमर,करणबीर प्रधान,प्रहलाद राणा, मुकेश शर्मा, युवा नेता पराग चौधरी, अंकित सहरावत, मनोज चौधरी गुर्जर आदि उपस्थित है। गांव पिपलहेडा निवासी सुशील के पुत्र रूपक को दस दिन पूर्व उसके दो दोस्त जगत कालोनी स्थित दुकान से बुलाकर अपने साथ ले गए। तीनों युवक गंगनहर में नहाने लगे। नहाते समय रूपक गंगनहर में डूब गया। गंगनहर में डूबे युवक की तलाश में ग्रामीण गंगनहर पर डटे रहे। दो दिन बाद परिजनों को पता चला कि रूपक का शव सरधना थाना क्षेत्र के कुशावली के रहवाहे में लहूलुहान अवस्था में पड़ा हुआ है। शव मिलने की सूचना पर परिजन व ग्रामीण दौड़ पड़े। सरधना पुलिस ने शव को रजवाहे से बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम पर भेज दिया। ग्रामीणों ने रूपक की हत्या कर शव रजवाहे में फेंके जाने का आरोप लगाते हुए कोतवाली में हंगामा किया। परिजनों का आरोप था कि पुलिस की लापरवाही से युवक की हत्या हुई है। घटना के बाद पुलिस ने दोनों युवको को पकड लिया था, लेकिन शाम को छोड़ दिया। हंगामे के दौरान ग्रामीणों ने कोतवाली के सामने शव रखकर जाम लगाने की चेतावनी दी। पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर पहुंचे परिजनों को हाईवे पर ही रोक दिया गया। मृतक के पिता की ओर से दी गई तहरीर पर पुलिस ने गांव तिगांई निवासी नमन पुत्र मोघा व शिवपुरी निवासी मोनू पुत्र जगदीश के अलावा दो अज्ञात पर केस दर्ज किया है। परिजनों का आरोप है कि इसके बाद पुलिस ने इस मामले कोई कार्रवाई नहीं की।

Next Story