Top
undefined

इन दो बैंकों ने लोन के लिए खोला खजाना

इन दो बैंकों ने लोन के लिए खोला खजाना
X

नई दिल्ली. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने लोन की एक नई स्कीम शुरू की है. इसकी शुरुआत शुक्रवार को की गई. यह कोलैटरल फ्री यानी कि बिना किसी गवाह या सिक्योरिटी के लोन दिया जाएगा. इसका नाम कवच पर्सनल लोन दिया गया है. कोरोना महामारी को देखते हुए स्टेट बैंक ने इस पर्सनल लोन की शुरुआत की है. कोरोना के चलते जिन लोगों का व्यवसाय ठप है या नौकरी-रोजगार का धक्का लगा है, वे इस लोन स्कीम का फायदा उठा सकते हैं.

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI ने एक बयान में कहा, यह लोन कोरोना में इलाज की सुविधा भी देता है. किसी व्यक्ति को खुद का या परिवार के सदस्यों का इलाज कराना हो तो वे इस लोन का फायदा उठा सकते हैं. इस स्कीम के तहत आवेदन करने वाले व्यक्ति को 5 लाख का लोन दिया जाएगा.

केनरा बैंक की लोन स्कीम

इससे पहले केनरा बैंक ने कोरोना से लोगों को राहत देने के लिए एक साथ तीन लोन स्कीम की घोषणा की थी. इसके तहत हेल्थकेयर क्रेडिट, बिजनेस और पर्सनल लोन देने की व्यवस्था है. पहली लोन स्कीम केनरा चिकित्सा हेल्थकेयर क्रेडिट फैसलिटी है जिसमें 10 लाख से लेकर 50 करोड़ रुपये का लोन मुहैया कराया जाएगा. यह लोन रजिस्टर्ड हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, मेडिकल प्रैक्टिसनर, डायग्नोस्टिक सेंटर्स, पैथोलोज लैब और हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर में लगे संस्थानों को दिया जाएगा.

यह लोन कुछ डिस्काउंट के साथ दिया जाएगा. केनरा बैंक के लोन को चुकाने की अवधि 10 साल है. इसमें 18 महीने का मोरटोरियम रखा गया है. यानी कि इस अवधि तक ब्याज दर चुकाने से छूट मिलेगी. केनरा बैंक का दूसरा लोन जीवनरेखा हेल्थकेयर बिजनेस के नाम से है. कुछ डिस्काउंट के साथ 2 करोड़ रुपये तक का लोन दिया जाएगा. डिस्काउंट ब्याज दर में दी जाएगी. मेडिकल ऑक्सीजन, ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन कॉन्सेनट्रेटर की मैन्युफैक्चरिंग और सप्लाई करने वाली कंपनियों और संस्थानों को यह लोन देने का प्रावधान किया गया है. इस लोन के लिए कोई प्रोसेसिंग फीस नहीं है. माइक्रो, स्मॉल और मीडियम इंटप्राइजेज (एमएसएमई) के कोई कोलैटरल सिक्योरिटी यानी कि गवाह या जमानत राशि का नियम नहीं है.

लोन की इस दोनों स्कीम के जरिये लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करने का मकसद है. खासकर ऐसी विषम परिस्थिति में जब सब लोग इस महामारी से जूझ रहे हैं. स्टेट बैंक के मुताबिक, उसकी यह स्कीम रिजर्व बैंक के उस कदम के सहयोग में है जो लोगों की मदद के लिए उठाए गए हैं. रिजर्व बैंक ने अभी हाल में कोरोना से पस्त अर्थव्यवस्था और व्यवसाय को पटरी पर लाने के लिए बैंकों के लिए सहायता राशि का ऐलान किया था. बैंकों को रिजर्व से मदद मिलेगी और बैंक उस मदद को आम लोगों या कंपनियों, व्यवसायों तक पहुंचाएंगे.

स्टेट बैंक की लोन स्कीम का नाम कवच पर्सनल लोन स्कीम है. इसके तहत 25 हजार से 5 लाख रुपये तक का लोन मिलेगा. लोन पर 8.5 परसेंट का ब्याज लगेगा. इसमें तीन महीने का मोरेटोरियम भी शामिल है. इस तीन महीने तक कोई ब्याज चुकाने की जरूरत नहीं होगी. इस दौरान कर्ज लेने वाला व्यक्ति अगर ब्याज नहीं देता है, तो बैंक की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं होगी. यह लोन स्कीम भी कोलैटरल फ्री है. लोन के लिए आपको कुछ गिरवी रखने की जरूरत नहीं होगी.

Next Story