Top
undefined

चार घंटे में दिल्ली से वाराणसी और दो घंटे में आगरा पहुंचाएगी बुलेट ट्रेन

यह बुलेट ट्रेन दिल्ली के सराय काले खां शुरू होकर नोएडा सेक्टर 148 रहेगा, जेवर इंटनेशनल एयरपोर्ट में रुकने के बाद मथुरा, आगरा, इटावा, लखनऊ, रायबरेली, प्रयागराज होते हुए वाराणसी तक का सफर तय करेगी।

चार घंटे में दिल्ली से वाराणसी और दो घंटे में आगरा पहुंचाएगी बुलेट ट्रेन
X

नई दिल्ली/ वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट से जुडी बुलेट ट्रेन अब यूपी का सफर करेगी। दिल्ली के सराय काले खां से वाराणसी के बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन के लिए यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे एलिवेटेड ट्रैक बिछाया जाएगा। जबकि इसके यूपी के नोएडा में दो स्टेशन होंगे। चार घंटे में यह दिल्ली से वाराणसी पहुंचाएगी।

बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए सैद्धांतिक सहमति बुधवार को नियाल और रेलवे अधिकारियों के बीच हुई बैठक में बन गई है। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की योजना के साथ ही सरकार ने इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से यूपी के गौतम बुद्ध नगर के जेवर तक विमान यात्रियों को लाने की तैयारी की थी। अब नोएडा इंटनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड को दिल्ली से नोएडा एयरपोर्ट के बीच बुलेट ट्रेन चलाने के लिए ड्राफ्ट रिपोर्ट सौंपी जा चुकी है। दिल्ली-वाराणसी हाई स्पीड रेल कारिडोर का काम नेशनल हाई स्पीड रेल कारपोरेशन लिमिटेड करेगी। यह बुलेट ट्रेन दिल्ली के सराय काले खां शुरू होकर नोएडा सेक्टर 148 रहेगा, जेवर इंटनेशनल एयरपोर्ट में रुकने के बाद मथुरा, आगरा, इटावा, लखनऊ, रायबरेली, प्रयागराज होते हुए वाराणसी तक का सफर तय करेगी। बुलेट ट्रेन दिल्ली के सराय काले खां से जेवर एयरपोर्ट तक की 62 किलोमीटर की दूरी 21 मिनट में तय करेगी। जेवर एयरपोर्ट से राया कट (मथुरा) तक 20 मिनट में पहुंचेगी। जबकि दिल्ली से आगरा 55 मिनट, तो लखनऊ तक 2 घंटे 50 मिनट लगेंगे। वहीं, दिल्ली से वाराणसी तक 816 किलोमीटर का सफर तय करने में 3 घंटे 41 मिनट का समय लगेगा। इसके अलावा इस बुलेट ट्रेन में 800 पैसेंजर एक साथ सफर कर सकते हैं। जबकि इसकी क्षमता बढ़ाकर 1250 यात्रियों की जा सकती है।

एक लाख 21 हजार करोड़ रुपये की इस परियोजना का चार चरणों में काम पूरा किया जाएगा। दिल्ली और नोएडा एयरपोर्ट के बीच पहले चरण के तहत काम इसी साल अगस्त अंत से प्रारंभ होने की उम्मीद है। इसके लिए यमुना अथारिटी ने मुफ्त में जमीन देने का फैसला किया है। बुलेट ट्रेन स्टेशन यूपी के नोएडा और जेवर के अलावा मथुरा, आगरा, इटावा, कानपुर, लखनऊ, रायबरेली, प्रयागराज, संतरविदास नगर, मिर्जापुर और वाराणसी में होंगे। पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के मंडुआडीह में ट्रेन का अंतिम स्टापेज होगा। जबकि बुलेट ट्रेन के पहला चरण काम दिल्ली से आगरा तक, दूसरा चरण का आगरा से लखनऊ तक, तीसरा चरण का लखनऊ से प्रयागराज तक और अंतिम चरण का काम प्रयागराज से वाराणसी तक होगा।

Next Story