Top
undefined

जासूसी पर हंगामे के बीच फाडे टीएमसी सदस्यों ने कागज, नहीं जवाब दे पाए आईटी मंत्री

गुरुवार को आईटी मंत्री अश्वनी वैष्णव इस मामले पर बयान देने के लिए उठे तो तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान उन्होंने पन्ने भी फाड़े और सभापति के आसन के पास एकत्रित हो गए।

जासूसी पर हंगामे के बीच फाडे टीएमसी सदस्यों ने कागज, नहीं जवाब दे पाए आईटी मंत्री
X

नई दिल्ली। कथित जासूसी और इससे जुडे साफ्टवेयर के मामले पर राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ। इसके बाद जब आईटी मंत्री जवाब के लिए उठे तो टीएमसी सांसदों ने पन्ने फाड कर विरोध प्रदर्शन किया। इसके चलते राज्यसभा की कार्यवाही कल तक स्थगित कर दी गई।

इजराइली साफ्टवेयर पेगासस से कथित तौर पर 300 भारतीयों की जासूसी के आरोपों को लेकर गुरुवार को भी संसद में जमकर हंगामा हुआ। गुरुवार को आईटी मंत्री अश्वनी वैष्णव इस मामले पर बयान देने के लिए उठे तो तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान उन्होंने पन्ने भी फाड़े और सभापति के आसन के पास एकत्रित हो गए। शोर-शराबे के बीच सदन की कार्यवाही को शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया। हंगामे के कारण वैष्णव अपना बयान ढंग से नहीं दे सके। उन्हें इसे सदन के पटल पर रखना पड़ा।

इससे पूर्व हंगामे के कारण दो बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजे जैसे ही सदन की कार्यवाही आरंभ हुई उपसभापति हरिवंश ने बयान देने के लिए वैष्णव का नाम पुकारा। इसी दौरान विपक्षी सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया। वैष्णव ने बयान की शुरुआत की ही थी कि हंगामा और तेज हो गया। हंगामे के कारण उनकी बात नहीं सुनी जा सकी। उपसभापति ने विपक्षी दलों के रवैये को असंसदीय करार दिया और केंद्रीय मंत्री से बयान को सदन के पटल पर रखने का आग्रह किया।

आज अलग-अलग मुद्दों पर विभिन्न दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण राज्यसभा में कामकाज नहीं हो पाया। शून्यकाल और प्रश्नकाल नहीं चल सके। सदन की कार्यवाही शुरू होने के कुछ ही देर बाद दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी। दोपहर 12 बजे जैसे ही सदन की कार्यवाही आरंभ हुई उपसभापति हरिवंश ने प्रश्नकाल के लिए सदस्य का नाम पुकारा लेकिन विपक्षी सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया।

Next Story