Top
undefined

पत्रकारों से मारपीट के बाद ट्विीटर पर वीडियो में कहते दिखे अखिलेश यादव- हां मारा है

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पत्रकारों की ओर से कुछ सवाल पूछे जाने पर अखिलेश यादव ने कहा था कि वह बीजेपी से क्यों नहीं पूछते हैं। इसके बाद बहस हुई और फिर मीडियाकर्मियों से उनके सुरक्षाकर्मी और टीम के अन्य लोगों की हाथापाई हो गई। इसके बाद ट्विटर पर ऐसे कई वीडियो भी सामने आए हैं, जिसमें अखिलेश यादव कहते दिख रहे है, हां मारा है।

पत्रकारों से मारपीट के बाद ट्विीटर पर वीडियो में कहते दिखे अखिलेश यादव- हां मारा है
X

मुरादाबाद। जिले में समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की प्रेस वार्ता के दौरान गुरुवार रात मीडिया कर्मियों पर हमले के मामले में अखिलेश की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पत्रकारों की ओर से कुछ सवाल पूछे जाने पर अखिलेश यादव ने कहा था कि वह बीजेपी से क्यों नहीं पूछते हैं। इसके बाद बहस हुई और फिर मीडियाकर्मियों से उनके सुरक्षाकर्मी और टीम के अन्य लोगों की हाथापाई हो गई। इसके बाद ट्विटर पर ऐसे कई वीडियो भी सामने आए हैं, जिसमें अखिलेश यादव कहते दिख रहे है, हां मारा है।

मीडिया कर्मियों के साथ अभद्रता की घटना को लेकर अखिलेश यादव ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे हैं। ट्विटर पर ऐसे कई वीडियो भी सामने आए हैं, जिसमें अखिलेश यादव कहते दिख रहे है, हां मारा है। मामले को लेकर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी अखिलेश यादव पर हमला बोला है और पूछा है कि मीडियाकर्मियों के साथ यह क्या हो रहा है। बीजेपी प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने भी मारपीट में घायल एक पत्रकार का वीडियो ट्वीट किया है। वीडियो शेयर करते हुए शलभ मणि त्रिपाठी ने लिखा है, मुरादाबाद के वरिष्ठ पत्रकार श्री फरीद शम्सी को सुनिए, वे बुरी तरह जख्मी हैं, समाजवादी पार्टी के गुंडों ने महज सवाल पूछने पर उनकी ये हालत बना दी,बंदूक के कुंदों तक से इस कदर पीटा कि वे बेदम हो गए।

दूसरी ओर अखिलेश यादव की प्रेस वार्ता में मौजूद रहे एसपी के सांसद सैयद तुफैल हसन ने मीडिया कर्मियों से हिंसा की बात को गलत बताते हुए कहा कि अखिलेश यादव कभी भी पत्रकारों के सवालों का जवाब देने से पीछे नहीं हटते। हालांकि हाल में अखिलेश यादव की पहले भी मीडियाकर्मियों से बहस हो चुकी है। इस दौरान अखिलेश यादव ने पत्रकार से पूछा था कि कितने में बिके हो? अब शलभ मणि त्रिपाठी की ओर से शेयर किए गए वीडियो में मुरादाबाद के पत्रकार फरीद शम्सी यह कहते दिखते हैं कि उनकी बंदूक की बटों से पिटाई की गई थी।

Next Story