Top
undefined

मध्य प्रदेश में कांग्र्रेस का खेल बिगाडेगी अब बसपा

बसपा ने 28 में से 27 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं जो भाजपा से ज्यादा कांग्रेस की वोटों में सेंधमारी कर सकते हैं।

मध्य प्रदेश में कांग्र्रेस का खेल बिगाडेगी अब बसपा
X

भोपाल। बसपा सुप्रीमो मायावती की यूपी में विधान परिषद चुनावों में सपा से नाराजगी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की विरोधी टिप्पणी के बाद बसपा भाजपा-विरोधी पार्टियों का खेल खराब करने की तैयारी रही है।

यूपी में सपा से पटखनी खाने के बाद मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनावों की तैयारियांे के बीच बसपा कांग्रेस के लिए मुसीबत खडी करने वाली है। पार्टी ने जिन सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित किए हैं, उन पर वे कांग्रेस उम्मीदवारों के लिए मुसीबत बन सकते हैं। उपचुनाव की 28 में से 16 सीटें ग्वालियर-चंबल क्षेत्र बीएसपी के प्रभाव की सीटें हैं। 2018 के विधानसभा चुनाव में बसपा यही दो सीटों पर जीती थी। कई सीटों पर उसके उम्मीदवार दूसरे नंबर पर रहे थे। बसपा ने 28 में से 27 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं जो भाजपा से ज्यादा कांग्रेस की वोटों में सेंधमारी कर सकते हैं।

2018 के विधानसभा चुनावों से पहले एससी-एसटी एक्ट को लेकर हुए आंदोलन के चलते माहौल भाजपा के खिलाफ था। इसलिए, बसपा को मिले वोट कांग्रेस की जीत में मददगार साबित हुए थे, लेकिन इस बार माहौल अलग है। ग्वालियर-चंबल में कांग्रेस के सबसे बड़े नेता रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया अब भाजपा में हैं। एससी-एसटी एक्ट जैसा कोई मुद्दा भी नहीं है। इसलिए, बसपा को मिलने वाले वोट बीजेपी से ज्यादा कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं।

Next Story