Top
undefined

ओम प्रकाश राजभर ने भाजपा को बताया डूबती हुई नैया

उन्होंने कहा, उप्र में शिक्षक भर्ती में पिछड़ों का हक लूटा, पिछड़ो को हिस्सेदारी न देने वाली भाजपा किस मुंह से पिछड़ो के बीच मे वोट मांगने आएंगी। इनको सिर्फ वोट के लिए पिछड़ा याद आते है। हमने भागीदारी संकल्प मोर्चा बनाया है जो भी उप्र में भाजपा को हराना चाहते है हम उनसे गठबंधन करने को तैयार है।

ओम प्रकाश राजभर ने भाजपा को बताया डूबती हुई नैया
X

लखनऊ। 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश में सियासी सरगर्मियां तेज हैं। इसके लिए भारतीय जनता पार्टी अपने सहयोगी दलों को एकजुट करने और बिछुडे साथियों को फिर नजदीक लाने के प्रयास में जुट गई है। अपना दल (एस) और निषाद पार्टी के बाद बीजेपी ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर को गठबंधन में वापसी के प्रयासों के बीच ओम प्रकाश राजभर ने भाजपा को डूबतो हुए जहाज बताते हुए ऐलान कर दिया है कि उनकी पार्टी बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं करेंगी।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने शुक्रवार 11 जून को ट्वीट करते हुए लिखा है कि भाजपा डूबती हुई नैया है, जिसको इनके रथ पर सवार होना है हो जाये..पर हम सवार नहीं होंगे। जब चुनाव नजदीक आता है तब इनको पिछड़ो की याद आती है जब मुख्यमंत्री बनाना होता है तो बाहर से लाकर बना देते है। हम जिन मुद्दों को लेकर समझौता किये थे साठे चार साल बीत गया एक भी काम पूरा नहीं हुआ। ओपी राजभर यही नहीं रूके, उन्होंने कहा, उप्र में शिक्षक भर्ती में पिछड़ों का हक लूटा, पिछड़ो को हिस्सेदारी न देने वाली भाजपा किस मुंह से पिछड़ो के बीच मे वोट मांगने आएंगी। इनको सिर्फ वोट के लिए पिछड़ा याद आते है। हमने भागीदारी संकल्प मोर्चा बनाया है जो भी उप्र में भाजपा को हराना चाहते है हम उनसे गठबंधन करने को तैयार है। भाजपा पिछड़ो का वोट कैसे मिले इसके लिए पिछड़ो के कुछ नेताओं को दिल्ली बुलाकर आश्वासन देना शुरू कर दी है। भाजपा (भारतीय झूठ पार्टी) पिछड़ों को हिस्सेदारी कब देगी, पिछड़ो का आरक्षण लूटने वाले बताए, सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट कब लागू होगी? अगर लागू नहीं हुआ तो 2022 में विदाई तय है।

Next Story