Top
undefined

कृषि विधेयक भाजपा सरकार का पतन पत्र : अखिलेश यादव

कृषि विधेयक भाजपा सरकार का पतन पत्र : अखिलेश यादव
X

लखनऊ । कृषि विधेयकों के पारित होने पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे भाजपा सरकार का पतन पत्र बताया है।

अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि भाजपा ने कृषि बिल पारित कराने के लिए 'ध्वनि मत' की आड़ में राज्यसभा में किसानों और विपक्ष की आवाज का गला दबाया है। इसके अलावा अपने कुछ चुनिंदा पूंजीपतियों और धन्नासेठों के लिए भारत की 2/3 जनसंख्या को धोखा दिया। उनके मुताबिक लोकतांत्रिक कपट कर बीजेपी ने कृषि बिल नहीं, बल्कि अपना 'पतन-पत्र' पारित कराया है।

इससे पूर्व राज्यसभा में सपा के सांसद रामगोपाल यादव ने कहा कि कुछ मामला तो है, जिस वजह से सत्ताधारी पार्टी किसी भी मुद्दे पर बहस नहीं करना चाहती। अगर आप देश के 60 फीसदी से ज्यादा लोगों को रोजीरोटी देने वाले सेक्टर को लेकर बिल लाएं, तो विपक्ष और किसान संगठनों से जरूर बात करें। आपने किसी से बात नहीं की, सिर्फ उनसे बात की जो आपके अपने हैं। इस बिल को लेकर कम से कम किसान संगठनों से तो बात करनी थी। उन्होंने पूछा कि आखिर क्या मजबूरी है जो सरकार चर्चा से भाग रही है।

Next Story