Top
undefined

ग्रेटर नोएडा: बिल्‍डर ने रखरखाव शुल्क 60% बढ़ाया, बिजली-पानी काटा, कालोनीवासियों में भारी आक्रोश

बिल्डर्स की मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने रेरा का गठन किया है लेकिन बिल्डर्स की मनमानी रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। इसका जीता जागता उदाहरण उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा स्थित गौर सिटी है। यहां बिल्डर द्वारा मेंटेनेंस शुल्क में मनमाने तरीके से 60 % की बढ़ोतरी की गई है। वृद्धि के विरोध में गौर सिटी के लोग प्रदर्शन करने लगे और सड़क को जाम कर दिया। प्रदर्शन के चलते लंबा जाम लग गया। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, यह प्रदर्शन 1 एवेन्यू से लेकर 6 एवेन्यू तक के निवासी कर रहे हैं। बिल्डर्स ने दबाव बनाने के लिए 6 एवेन्यू में रहने वाले लोगों की बिजली और पानी का कनेक्शन काटकर लोगों की परेशानी बढ़ा दी है।

आपको मालूम हो ग्रेटर नोएडा में बड़ी तादाद में हाऊसिंग सोसाइटी हैं। यहां की सोसाइटियों में ऊंची-ऊची बिल्डिंग्स बनी हुई हैं। बाहर से आने वाले लोग ज्यादातर इन्हीं सोसाइटियों में रहना पसंद करते हैं, जहां उन्हें अच्छे रेट पर फ्लैट मिलने के साथ-साथ सुरक्षा और दूसरी सुविधाएं भी मिल जाती है। हालाँकि बिल्डर अक्सर इन सोसाइटियों में रहने वाले लोगों से मनमानी भी करने लगते हैं। मसलन बगैर जानकारी दिए अचानक मेंटेनेंस शुल्क के रूप में मोटी रकम बढ़ा देना इत्यादि। बिल्डर्स की मनमानी से लोगों के लिए परेशानी खड़ी हो जाती है। इससे फ्लैट स्वामियों के बजट पर भी उल्टा असर पड़ता है।

हालांकि अधिकांश सोसाइटी में बिल्डर मंहगाई के अनुसार समय-समय पर मेंटेनेंस शुल्क बढ़ाते हैं। लेकिन एकबारगी 60 फीसदी मेंटेनेंस शुल्क बढ़ाने से गौर सिटी निवासियों में हड़कंप मच गया है। लोगों ने प्रतिवाद करते हुए कहा कि 60 फीसदी मेंटेनेंस शुल्क बढ़ाना एक तरह का जुल्म है। कहा, पहले ही कोरोना वायरस की वजह से नौकरीपेशा वालों की सैलरी पहले की अपेक्षा कटकर कम आ रही है। ऊपर से अचानक 60 फीसदी मेंटेनेंस शुल्क बढ़ाना गरीबी में आटा गीला होने वाली बात हो गयी। बिल्डर्स ने हम लोगों के सामने एक आर्थिक चुनौती खड़ी कर दी है।

Next Story