Top
undefined

नौकरी के नाम पर लडकियों को सैक्स रैकेट में धकेलने का भंडाफोड

आसाम, बंगाल और नेपाल समेत तमाम राज्यों से किशोरियों को खरीदकर मेरठ लाकर देह व्यापार में धकेलने वाले गिरोह की संचालिका को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

नौकरी के नाम पर लडकियों को सैक्स रैकेट में धकेलने का भंडाफोड
X

मेरठ। असम और पश्चिम बंगाल से नौकरी का लालच देकर लडकियों को लाकर देह व्यापार कराने वाले गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश् किया है। आसाम, बंगाल और नेपाल समेत तमाम राज्यों से किशोरियों को खरीदकर मेरठ लाकर देह व्यापार में धकेलने वाले गिरोह की संचालिका को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

सूत्रों के अनुसार मेरठ के लिसाड़ी गेट क्षेत्र के लकीपुरा में रहने वाली एक महिला द्वारा आसाम, बंगाल और नेपाल से नाबालिग लड़कियों ेीखरीद-फरोख्त किए जाने की सूचना मिल रही थी। बताया जाता है कि उन्हें नौकरी दिलाने के बहाने यहां लाकर देह व्यापार मंे धकेला जाता था। इसके बाद एक एनजीओ के पदाधिकारियों ने मेरठ पुलिस से संपर्क किया। इसके बाद एनजीओ और एएचटीयू के अधिकारियों ने महिलाओं की गतिविधियों पर नजर रखनी शुरू की और ग्राहक बनकर जाल बिछाते हुए एएचटीयू की टीम ने एक सेक्स रैकेट संचालिका को गिरफ्तार किया है। इसी के साथ दिल्ली से 4 दिनों के लिए 24 हजार में किराए पर लाई गई नाबालिग लड़की को मुक्त कराया गया। पुलिस सेक्स रैकेट संचालिका से पूछताछ में जुटी है। जिसके बाद जिले में बड़े सेक्स रैकेट के खुलासे की संभावना है। एएचटीयू और एनजीओ के अधिकारियों ने कस्टमर बनकर महिला से संपर्क किया। जिसके बाद उन्होंने 1 दिन के लिए महिला से सेक्स वर्कर की डिमांड की। महिला ने एएचटीयू और एनजीओ के अधिकारियों को ग्राहक समझकर सोमवार दोपहर नौचंदी थाना क्षेत्र स्थित नई सड़क पर सेक्स वर्कर से मिलवाने के लिए बुलाया था। जैसे ही महिला किशोरी को लेकर पहुंची तो महिला को दबोच लिया गया। महिला ने बताया कि वह पिछले काफी समय से सेक्स रैकेट का संचालन कर रही है। महिला दिल्ली के रेड लाइट एरिया से प्रतिदिन के हिसाब से लड़कियों को बुक करके लाती है। इसके बाद अपने मनमाफिक दामों पर उनकी बुकिंग लेती है और समय पूरा होने के बाद उन्हें वापस भेज देती है। आज जिस 15 वर्षीय लड़की का सौदा करने के लिए महिला लेकर आई थी उसे भी महिला ने दिल्ली से 4 दिन के लिए 24 हजार रुपए में खरीदा था। इनमें अनेक लडकियां ऐसी हैं जिनकी गरीबी का फायदा उठाकर उन्हें विभिन्न राज्यों से नौकरी दिलाने के नाम पर यहां लाकर देह व्यापार में धकेला जाता था।

Next Story