Top
undefined

आगरा से 34 यात्रियों समेत हाईजैक बस इटावा से बरामद

आगरा से 34 यात्रियों समेत हाईजैक बस इटावा से बरामद
X

आगरा। आगरा से हाईजैक की गई बस इटावा में बरामद हो गई है। आज तडके 34 यात्रियों समेत इस बस के हाईजैक होने के बाद सनसनी मच गई थी। हालांकि पुलिस ने बस को फाइनेंसरों द्वारा हाइजैक किए जाने की बात कही थी लेकिन झांसी में मौजूद बस मालिक के जीजा गगन ने कहा कि बस फाइनेंस नहीं थी। किसी ने साजिश के तहत बस को अगवा कर लिया है।

सूत्रों के अनुसार आज सुबह 3 बजे गुरुग्राम से झांसी के मऊरानीपुर, छतरपुर, पन्ना के लिए 34 यात्रियों को लेकर एक प्राइवेट बस निकली थी। बस जैसे ही आगरा के दक्षिणी बाईपास के आगे पहुंची, तभी बस को कुछ लोगों ने ओवरटेक किया और बताया कि गाड़ी पर फाइनेंस है और किश्त समय से नहीं दिया जा रहा है। कार सवार लोगों ने कहा कि हम बस को ले जा रहे हैं। इन लोगों ने ड्राइवर और कंडक्टर को अपने साथ जाइलो में बैठा लिया और कार में सवार एक शख्स बस को चलाकर ले जाने लगा। बस में सवार यात्रियों को इसकी जानकारी नहीं थी। आगरा पुलिस के मुताबिक, बाद में बस के यात्रियों को उतारकर दूसरी गाड़ी से झांसी भेज दिया गया।

मामले जानकारी जैसे ही झांसी पुलिस को मिली तो वह हरकत में आ गई और बस स्टेशन पर बस और यात्रियों की तलाश शुरू कर दी। घटना की सूचना पाकर बस मालिक का जीजा गगन भी झांसी पुलिस के पास पहुंच गया। बस मालिक के रिश्तेदार गगन ने कहा कि मुझे जानकारी मिली कि बस से ड्राइवर, कंडेक्टर को उतार दिया गया और उसे अगवा कर लिया गया है। परिवार में आकस्मिक मृत्यु हो जाने के कारण मेरे ससुर-साले नहीं आ सकते हैं, इसलिए मैं चला आया, जहां तक मुझे जानकारी है, यह बस फाइनेंस की नहीं है। उधर, अगवा की गई बस को इटावा से बरामद कर लिया गया है। पुलिस यात्रियों और बस को अगवा करने वाले लोगों की तलाश में जुटी हुई है। हाइजेक के पीछे पुलिस को नई थ्योरी पता चली है। बताते हैं कि हाइजेक हुई बस का मालिक कोरोना संक्रमित था और मंगलवार को उसकी मौत हो गई थी। उसकी मौत के बाद साझेदारी में आपसी झगड़े को लेकर बस हाइजेक की गई। आगरा पुलिस के साथ ग्वालियर पुलिस भी मामले की जांच पड़ताल में लगी हुई है। ग्वालियर एसपी अमित सांघी ने हाइजेक की यही वजह बताई है।

Next Story