Top
undefined

होमगार्ड और उसके भाई ने दिव्यांग डाक्टर व परिजनों को पीटा

कानपुर । शराब पीने से रोकने और शिकायत करने पर होमगार्ड और उसके भाई ने दबंगई दिखाते हुए क्‍लिनिक के अंदर घुसकर दिव्यांग डॉक्टर को जमकर पीटा। डॉक्टर को बचाने आई बुजुर्ग पत्नी और बेटियों को भी नही बख्‍शा और उनकी भी पिटाई कर दी। जब डॉक्‍टर परिवार ने पुलिस ने शिकायत की तो होमगार्ड अपने भाई का पक्ष लेने के लिए खुद पहुंच गया। होमगार्ड ने पीड़ित परिवार से बदसलूकी की। होमगार्ड और उसके भाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है।

सूत्रों के अनुसार जूही थाना क्षेत्र स्थित मिलेट्री कैंप में रहने वाले जगतपाल सिंह यादव पेशे से डॉक्टर है। दिव्यांग होने के कारण ही घर पर ही उन्‍होंने क्‍लिनिक खोल रखा है। परिवार में बुजुर्ग पत्नी शिवमती सिंह यादव, बेटी प्रीति सिंह के साथ रहती है। डॉक्टर जेपी सिंह के पड़ोस में रहने वाले धर्मेंद्र सिंह जूही थाने में होमगार्ड के पद पर तैनात है। अपने लोकल थाने में तैनात होने की वजह से होमगार्ड और उसके भाईयों का पूरे मोहल्ले में आतंक है। आरोप है कि दोनों भाई नशे में धुत होकर दबंगई दिखाते हैं।

डॉक्टर ने क्लीनिक के बाहर शराब पीने का किया था विरोध

डॉक्टर जेपी सिंह ने बताया कि होमगार्ड का भाई बाबू सिंह रोजाना क्‍लिनिक के बाहर बैठकर शराब पीता है, इसके बाद गाली-गलौच करता है। बीते 21 सितंबर की शाम मैं क्‍लिनिक पर मरीजों को देख रहा था। बाबू सिंह क्‍लिनिक के बाहर शराब पीकर गाली-गलौच कर रहा था, मैने उसकी इस हरकत का विरोध किया, तो उसने क्‍लिनिक के अंदर घुस कर मुझे लात-घूसों और थप्पडों से जमकर पीटा। शोरगुल सुनकर मेरी पत्नी और बेटी बचाने के लिए आए, बाबू सिंह ने उन्हे भी पीटा, उनके साथ छेड़छाड़ की।
पीड़ित परिवार ने जूही थाने में शिकायत की तो होमगार्ड धर्मंद्र सिंह पहुंचा, और अपने भाई का पक्ष ही लेने लगा। नशेबाज शख्स ने होमगार्ड के सामने भी डॉक्‍टर को पीटने लगा। होमगार्ड ने पीड़ित परिवार को धमकाते हुए कहा कि जूही थाने में मुकदमा लिखाना चाहते हो, जूही थाने में मेरा कुछ नहीं कर पाओगे। जब डॉक्टर की बेटी होमगार्ड का वीडियो बनाने लगी तो होमगार्ड बाइक स्टार्ट कर के भाग गया।

Next Story