Top
undefined

कोरोना में डेंगू जैसे लक्षण गिरा रहे प्लेटलेट्स

डेंगू बुखार में प्लेटलेट्स काउंट कम होते थे, लेकिन अब कोरोना भी डेंगू प्लेटलेट्स कम कर रहा है।

कोरोना में डेंगू जैसे लक्षण गिरा रहे प्लेटलेट्स
X

लखनऊ। इस बार बरसात में डेंगू का जोर कम है, लेकिन कोरोना भी डेंगू जैसे हालात पैदा कर रहा है। डेंगू बुखार में प्लेटलेट्स काउंट कम होते थे, लेकिन अब कोरोना भी डेंगू प्लेटलेट्स कम कर रहा है। कई मामलों में मरीज की प्लेटलेट्स काउंट अचानक गिरकर 20 हजार से भी नीचे आ जा रही है। हालांकि जांच में डेंगू नहीं मिल रहा है। कोरोना की गंभीर अवस्था में यह स्थिति सामने आ रही है।

हाल में कुछ मामलों के सामने आने के बाद पीजीआई के प्रोफेसर अनुपम वर्मा ने कहा कि अचानक कोरोना मरीजों में प्लेटलेट्स काउंट गिरने से मुश्किल बढ रही है। पीजीआई में भर्ती लोकबंधु अस्पताल के एक कोरोना प्रभावित डाॅक्टर की प्लेटलेट्स दस हजार पहुंच ने चिकित्सकों की सांसें फूल गईं। चिकित्सकों के अनुसार कोरोना रोग प्रतिरोधक क्षमता को प्रभावित करता है। इससे शरीर में प्लेटलेट्स की खपत बढ़ जाती है, जबकि उनका उत्पादन कम रहता है। इसके कारण प्लेटलेट्स काउंट अचानक से गिर जाने सेे मरीज की स्थिति ज्यादातर गंभीर हो जाती है। ऐसे में रोगी को प्लेटलेट्स चढ़ाया जा रहा है और जरूरत पड़ने पर प्लाज्मा थेरेपी भी दी जा रही है। एक बदलाव यह देखने में आया है कि कोरोना मरीजों को खून के थक्के जम जाते थे। इसमें टीपीए इंजेक्शन दिया जाता है, लेकिन कुछ मरीजों को टीपीए देने पर उनकी नसें फट जा रही हैं, जिससे अंदरूनी रक्त रिसाव हो जाता है। कोरोना वायरस मरीज के बोन मैरो को इंफेक्ट कर रहा है, जिससे यह दिक्कत सामने आ रही है। हालांकि चिकित्सकों का कहना है कि आज के हालात में कोरोना मरीजों की डेंगू की जांच भी बहुत जरूरी है। खासकर ऐसे मरीज जिनका प्लेटलेट्स काउंट गिर रहा हो। इससे पता चल सकेगा कि इसका कारण कोरोना है या डेंगू। इस पर चिकित्सकों ने शोध शुरू किया है।

Next Story