Top
undefined

विधायक के लैटर पैड पर एसपी की शिकायत का राज खुला तो बैठ गई जांच

मेरठ। भाजपा विधायक सोमेंद्र तोमर के लैटर पैड पर मेरठ के एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह की अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी से शिकायत करते हुए आरोप लगाया गया है कि एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह के संबंध जिले के कुख्यात माफियाओं से हैं। भाजपा विधायक के इस फर्जी लैटर पैड बम से मेरठ से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मच गया।

अब इस मामले इसकी जांच बैठा दी गई। पुलिस की जांच में सामने आया कि विधायक के लेटरपैड पर जो भी लिखा गया वह फर्जी था। यहां तक कि लैटर पैड पर विधायक के हस्ताक्षर भी फर्जी किए गए हैं। पड़ताल में यह भी सामने आया कि कुख्यात बदन सिंह बद्दो पर हुई कार्रवाई से क्षुब्ध होकर उसके गुर्गों ने यह कृत्य किया है। इससे तो यह साफ होता है कि कुख्यात माफिया कहीं भी हो उसकी नजर मेरठ के पुलिस और प्रशासन पर बराबर लगी हुई है। वह पुलिस की प्रत्येक गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। पुलिस चाहकर भी उसका कुछ नहीं बिगाड़ पाई है। कुख्यात बदन सिंह बददो की फरारी को 1 साल से अधिक हो चुका है लेकिन वह अभी तक पुलिस की गिरफ्त से काफी दूर है। पुलिस ने उसके गुर्गों पर कार्रवाई तो की लेकिन उसके गुर्गे भी कानूनी दाव पेंच के सहारे बचकर निकल गए हैं।
नौ सितंबर को अपर मुख्य सचिव को विधायक सोमेंद्र तोमर की तरफ से अपने लेटरपैड पर एक शिकायत की गई। आरोप लगाया कि एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह के माफिया से संबंध हैं। अपर मुख्य सचिव के आदेश पर मामले की जांच कराई गई। विधायक से बातचीत की गई। उन्होंने बताया कि इस प्रकार का कोई पत्र उनकी तरफ से नहीं भेजा गया है। विधायक के पीआरओ चिराग अग्रवाल ने मेडिकल थाने में अज्ञात में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस जांच में सामने आया कि ढाई लाख के इनामी बद्दो पर एसएसपी और एसपी सिटी ने शिकंजा कसा है। ऐसे में उसके सहयोगियों ने फर्जी पत्र भेजकर सनसनी फैलाई है। इस बारे में भाजपा विधायक सोमेंद्र तोमर का कहना है कि उनके द्वारा इस तरह का कोई पत्र नहीं लिखा गया है। पुलिस प्रशासन इसकी जांच करवाकर आरोपी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें। वहीं फर्जी लैटर पैड मामले में एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपी को पुलिस गिरफ्त में लेगी।

Next Story