Top
undefined

योगी आदित्यनाथ ने गुरु गोरखनाथ को चढ़ाया खिचड़ी प्रसाद

योगी आदित्यनाथ ने नाथ संप्रदाय की परम्परा के मुताबिक जमीन पर बैठ कर नादी प्रणाम किया। पूजा अर्चना के बाद गोरक्षपीठ की ओर से खिचड़ी चढ़ाई। इसके बाद त्रेतायुग से प्रज्ज्वलित अखण्ड ज्योति की पूजा कर आशीर्वाद लिया।

गोरखपुर । गोरक्षपीठाधीश्वर के रूप में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मकर संक्रांति पर आज सुबह शिव अवतारी गुरु गोरखनाथ को परम्परागत तरीके से पुण्यकाल में पहली खिचड़ी चढ़ाई। इसके बाद नेपाल राजवंश की ओर से खिचड़ी चढ़ाई गई। फिर नाथ योगियों, साधु संतों ने खिचड़ी चढ़ा कर पूजा अर्चना की। इस मौके पर बडी संख्या में लोग खिचडी प्रसाद पाने के लिए कतार में लगे रहे।

गुरुवार की भोर 3.30 बजे ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ श्रीनाथ मंदिर स्नान ध्यान कर पहुंच गए। उनके साथ प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ, देवी पाटन मंदिर के महंत मिथलेशनाथ, शांतिनाथ, महंत पंचानन पुरी, कालीबाड़ी के महंत रविंद्रनाथ, योगी दिनेशनाथ, योगी धर्मेंद्रनाथ, सोमनाथ, बैरागी बाबा आदि साधु संत भी मौजूद रहे। योगी आदित्यनाथ ने नाथ संप्रदाय की परम्परा के मुताबिक जमीन पर बैठ कर नादी प्रणाम किया। पूजा अर्चना के बाद गोरक्षपीठ की ओर से खिचड़ी चढ़ाई। इसके बाद त्रेतायुग से प्रज्ज्वलित अखण्ड ज्योति की पूजा कर आशीर्वाद लिया। प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ ने नेपाल राजवंश की ओर से खिचड़ी चढ़ाई। उसके बाद एक-एक कर सभी नाथ योगियों ने खिचड़ी चढ़ाई। पूरा मंदिर परिसर ढोल, नगाड़ों से गूंज रहा था। श्रद्धालु गुरु गोरखनाथ के जय के नारे लगा रहे थे। यह अनुष्ठान 4.15 बजे तक चला। उसके बाद श्रद्धालुओं के खिचड़ी चढ़ाने का सिलसिला शुरू हुआ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंदिर परिसर में स्थापित सभी गोरक्षपीठाधीश्वर की समाधि पर जाकर पूजन कर माथा टेक आशीर्वाद लिया। मदिर परिसर में स्थापित सभी देव विग्रहों का पूजन किया गया।

Next Story