Top
undefined

कोरोना कर रहा किडनी को प्रभावित

कोरोना कर रहा किडनी को प्रभावित
X

नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर अब थमती नज़र आ रही है, लेकिन चिंता की बात यह है कि कोरोना से ठीक होने के बाद भी लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना से ठीक होने के बाद भी मरीज़ों को पूरी तरह फिट होने में काफी समय लग सकता है. ऐसी परेशानियों को डॉक्टर 'लॉन्ग कोविड' का नाम दे रहे हैं. यानी वो बीमारियां जो कोरोना के बाद लोगों को लंबे समय तक परेशान करती हैं.

इस बारे में वाशी के फोर्टिस हीरानंदानी अस्पताल में वरिष्ठ सलाहकार नेफ्रोलॉजिस्ट और ट्रांसप्लांट चिकित्सककोविड -19 के रोगियों के बीच एक अध्ययन किया गया है, जिसमें पता चला है कि कोरोना होने के करीब छह महीने के बाद किडनी में खराबी आ सकती है. इसके अलावा प्रोटीन रिसाव और ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाता है. हालांकि कुछ मरीज़ों में ये भी देखा गया है कि उनकी किडनी की बीमारियां ठीक भी हो जाती हैं और वो सामान्य जीवन जीने लगते हैं.' डॉक्टर अतुल इंगले ने कहा कि कि कोरोना के बाद मरीज़ों की किडनी पर कैसा असर पर पड़ता है.डॉक्टर इंगले के मुताबिक चिंता की बात ये है कि कोरोना से ठीक होने के बाद किडनी खराब होने के बारे में जल्दी पता नहीं चलता है. इसके लक्षण शुरुआत में नहीं दिखते हैं. कई बार किडनी में दिक्कतों के बारे में एडवांस स्टेज में पता चलता है. डॉक्टर ने एक स्टडी का हावाला देते हुए बताया कि कोरोना से ठीक होने के 6 महीने बाद भी कई बिमारियां उभर कर सामने आती है. ऐसे में किडनी के कई मरीजों को डायलिसिस की जरूरत पड़ जाती है.

Next Story