Top
undefined

मुंबई बंदरगाह पर पकड़ी 5 करोड़ की विदेशी सिगरेट

कंटेनर के अंदर रखे सामान के भीतर छुपाकर रखी विदेशी सिगरेट को डीआरआई के अधिकारियों ने बरामद की। कोविड के दौरान सिगरेट की तस्करी में काफी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अब तक देश में करीब 30 करोड़ की सिगरेट पकड़ी जा चुकी हैं।

मुंबई बंदरगाह पर पकड़ी 5 करोड़ की विदेशी सिगरेट
X

मुंबई। देश में कोविड-19 की महामारी के साथ ही विदेशी सिगरेट की तस्करी ने भी पूरा जोर पकड़ा हुआ है। आज फिर से डीआरआई के अफसरों ने बंदरगाह पर कंटेनर में आये सामान के बीच छिपाई गई विदेशी सिगरेट की बड़ी खेप को पकड़कर तस्करों पर नकेल लगाने का काम किया है।

नवी मुंबई के न्हावा शेवा बंदरगाह इलाके में डीआरआई ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए पौने पांच करोड़ की विदेशी सिगरेट बरामद की है। डीआरआई के आला अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक इस कार्रवाई में करीब 21 लाख 60 हजार सिगरेट बरामद की गई है, हालांकि इस मामले में किसी आरोपी की गिरफ्तारी अब तक नहीं हुई है और डीआरआई यह पता लगाने की कोशिश में जुटी है कि आखिर इतनी बड़ी मात्रा में सिगरेट किसने मंगाई थी और इसकी सप्लाई कहां होनी थी।

डीआरआई के अनुसार खुफिया सूत्रों से यह जानकारी मिली थी कि नवी मुंबई के न्हावा शेवा बंदरगाह से दुबई से अवैध तरीके से भारत मे विदेशी सिगरेट सप्लाई की जा रही है। जानकारी मिलते ही डीआरआई के अधिकारियों ने पोर्ट के पास ट्रैप लगाया। ट्रैप के दौरान टीम को एक कंटेनर पर शक हुआ। शक के आधार पर जब डीआरआई अधिकारियों ने उसकी तलाशी ली तो उसके अंदर से बड़ी मात्रा में विदेशी सिगरेट बरामद हुई।

यह सिगरेट कंटेनर के अंदर रखे सामान के अंदर छुपाकर रखी गई थी। मामले की जांच के दौरान यह बात सामने आई कि सिगरेट की इस खेप को आयातक-निर्यातक कोड का उपयोग करके आयात किया गया था जो कि केवाईसी दस्तावेजों का गलत इस्तेमाल करके प्राप्त किया गया था। डीआरआई अधिकारियों के मुताबिक इस मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नही हुई है, लेकिन उन्हें इस तस्करी के रैकेट में शामिल लोगों के बारे में बेहद ही अहम सुराग हाथ लगे हैं और उसी के आधार पर जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है। डीआरआई के अधिकारियों की मानें तो कोविड के दौरान सिगरेट की तस्करी में काफी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अब तक कुल 5 मामलों में देश के अलग-अलग इलाकों से करीब 30 करोड़ की सिगरेट बरामद की जा चुकी है।

Next Story