Top
undefined

सपा विधायक नाहिद हसन को रोकने के लिए नाकाबंदी

जनपद शामली की कैराना विधानसभा से समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन की आज प्रदर्शन और जेल भरो आंदोलन की घोषणा को देखते हुए एसएसपी नित्यानंद राय ने जनपद में हाई अलर्ट कर विधायक नाहिद हसन को रोकने के लिए जबरदस्त नाकाबंदी करा दी है

सपा विधायक नाहिद हसन को रोकने के लिए नाकाबंदी
X

शामली। समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन और शामली जिला प्रशासन एक बार फिर आमने-सामने हैं पीड़ितों पर पुलिस द्वारा की गई गलत कार्यवाही के विरोध में कैराना कोतवाली में प्रदर्शन के कारण दर्ज मुकदमे के खिलाफ सपा विधायक नाहिद हसन ने सोमवार को जेल भरो आंदोलन का आह्वान किया है इसी को देखते हुए आज शामली जिला पुलिस प्रशासन में हाई अलर्ट के साथ जिले में नाकाबंदी कर सपा विधायक और उनके समर्थकों को रोकने की पूरी तैयारी कर ली है।


बता दें कि आपसी झगड़े के एक विभाग में कैराना कोतवाली में शिकायत लेकर जाने वाले पीड़ितों को ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया इस मामले में समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन विगत दिनों अपने समर्थकों के साथ कैराना कोतवाली पहुंचे थे पुलिस पर उन्होंने भ्रष्टाचार और पीड़ित लोगों को ही जेल भेजने के आरोप लगाते हुए हंगामा किया इस दौरान कैराना कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर प्रेमवीर सिंह राणा के साथ सपा विधायक की तीखी नोकझोंक और हंगामे का वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जमकर वायरल हुआ को लेकर एसपी शामली नित्यानंद राय के आदेश पर सपा विधायक एवं उनके 30 40 समर्थकों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं करने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है इसके विरोध में सपा विधायक नाहिद हसन ने 2 नवंबर को कैराना राइस मिल पर अपने 50000 समर्थकों के साथ विरोध प्रदर्शन और जेल भरो आंदोलन करने का ऐलान किया।


इसके लिए सपा विधायक नाहिद हसन ने जिलाधिकारी शामली से लिखित आवेदन कर प्रदर्शन की अनुमति मांगी थी लेकिन रविवार को जिलाधिकारी ने कानून व्यवस्था एवं कोरोना संक्रमण का हवाला देते हुए सपा विधायक की अर्जी को अस्वीकार करते हुए बिना अनुमति प्रदर्शन करने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी थी आज प्रदर्शन का दिन होने के कारण शामली में पूरी तरह से हाई अलर्ट दिखाई दे रहा है किराना जाने वाले सभी रास्तों की नाकाबंदी की गई है इन रास्तों पर पुलिस फोर्स के साथ ही पीएसी बल दंगा नियंत्रण उपकरणों के साथ तैनात किया गया है।

Next Story