Top
undefined

सेल्फी खींचते ही गिरी आकाशीय बिजली, सिर में आ गई दरार

बदलते मौसम में उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्र का मजा उठाने के लिए जा रहे चार पर्यटकों को सेल्फी गरजते बादलों के बीच ही सेल्फी खींचना इतना महंगहा पड़ा कि उनको उस घटना की याद आते हुए कंपकंपी छूटने लगती है।

सेल्फी खींचते ही गिरी आकाशीय बिजली, सिर में आ गई दरार
X

देहरादून। रुद्रप्रयाग जिले में चोपता से तुंगनाथ घूमने के लिए जा रहे चार पर्यटकों को बदलते मौसम के बीच आकाशीय बिजली के साथ अपनी सेल्फी खींचना महंगा पड़ गया। जैसे ही मोबाइल से क्लिक किया, एक जोरदार आवाज और चमक ने इन चारों को बेहोश कर दिया। जब होश आया तो चारो पर्यटक चोटिल थे और एक युवक के सिर से खून बह रहा था। पर्यटकों में दो लोग गाजियाबाद, एक बुलंदशहर व एक रुद्रप्रयाग जिले का रहने वाला है। आकाशीय बिजली गिरने के कारण ये बेहोश हो गये थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को अपराह्न तीन बजे के बाद गाजियाबाद निवासी 27 वर्षीय युवक मयंक शर्मा पुत्र जितेंद्र शर्मा व अपने छोटे भाई सतीश शर्मा के साथ ही देवेंद्र सिंह पुत्र भोला सिंह, निवासी बुलंदशहर और दिनेश सिंह पुत्र मदन सिंह, निवासी चंद्रापुरी-भटवाड़ी, जिला रुद्रप्रयाग, चोपता से तुंगनाथ के लिए रवाना हुए। शाम लगभग साढ़े चार बजे जब ये लोग भुगजली पहुंचे, तभी वहां मौसम खराब होने के साथ ही आसमान में बादलों की गर्जना होने लगी।

इस बीच एक पर्यटक अपने मोबाइल से फोटो खींचने लगा, तभी जोरदार आवाज के साथ आकाशीय बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से चारों पर्यटक घायल हो गए। जबकि मोबाइल जलकर कोयला बन गया। इस घटना में देवेंद्र सिंह के सिर पर गंभीर चोट आई और उसका सिर फट गया। उसके सिर के पीछे एक दरार खुल गयी थी। उपचार के दौरान चिकित्सक को इस दरार को बन्द करने के लिए पांच टांके लगाने पड़े। जबकि मयंक को हल्की चोट लगी। इस दौरान चंद्रशिला, तुंगनाथ से वापस लौट रहे कुछ पर्यटकों ने चोपता पहुंचकर व्यापार संघ अध्यक्ष भूपेंद्र मैठाणी व अन्य को सूचना दी, जिस पर वे लोग मौके पर पहुंचे और तत्परता से चारों पर्यटकों को चोपता लाए और पुलिस व प्रशासन को घटना की जानकारी दी।

Next Story