Top
undefined

सरकार की दादागिरी पर किसानों की गांधीगिरी

किसानों को दिल्ली कूच रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा की जा रही सुरक्षा व्यवस्थाओं में दिल्ली पुलिस में जो भी हथकंडे अपनाए वह विवादों में हैं 12 लेयर की सुरक्षा व्यवस्था हो लोहे के कटीले तार या फिर लोहे के नुकीले सरियों को सड़कों में गार्ड कर रास्ते बंद करने की दादागिरी सभी को लेकर दिल्ली पुलिस विवादों में हैं सरकार की इस दादागिरी पर किसानों ने आज गांधीगिरी करते हुए कांटो के सामने फूल लगाने का काम किया है

सरकार की दादागिरी पर किसानों की गांधीगिरी
X

गाजियाबाद। यूपी गेट (गाजीपुर बार्डर) पर दिल्ली पुलिस की ओर से लगाए गए कांटों (कीलों) का जबाब देने के लिए शुक्रवार को गांधीगिरी की। किसानों ने सड़क पर लगाए गए कांटों का जबाब में फूलों के पौधे लगाए हैं।

सांकेतिक तौर पर किसान नेताओं ने बैरिकेडिंग के पास गेंदे के पौधे लगाए। इस संबंध में राकेश टिकैत ने बताया कि पुलिस हमारी राह में कांटे बो रही है और हमने फूल बोने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि बेरिकेडिंग के पास केवल सांकेतिक तौर पर गेंदे के पौधे लगाए गए हैं। किसान दिल्ली से डाबर तिराहे की ओर जाने वाली ‌सड़क के साथ मोड़ पर पुष्प वाटिका विकसित कर रहे हैं ‌ताकि सड़क के किनारे पड़ी गंदगी को हटाकर इस जगह को हरा-भरा किया जा सके।

फूलों की वाटिका हमेशा दिल्ली पुलिस के कांटों की याद तो दिलाती ही रहेगी, साथ ही किसानों की ओर से लगाए जाने वाले यह फूल के पौधे वातावरण को सुगंधित करने का काम करेंगे। राकेश टिकैत ने कहा कि हो सकता है इन फूलों की सुगंध से ही कुछ अच्छा होने की शुरूआत हो जाए। सड़‌‌क किनारे फूल के पौधे लगाने के लिए किसानों ने मिट्टी डाली और नर्सरी से गेंदे के पौधे लाकर लगाए भी। उन्होंने कहा कि हम शांति के पुजारी हैं और कांटों का जबाब फलों से देने का प्रयास कर रहे हैं।

Next Story