Top
undefined

गाजीपुर बाॅर्डर की बिजली काटी, किसानों ने कब्जाए टोल

होली के दिन किसान आंदोलन ने नई करवट ली है। किसानों ने गाजीपुर बाॅर्डर सहित अन्य स्थानों पर केन्द्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों की प्रतियों को फूंककर होलिका दहन किया, तो सरकार ने भी किसानों के आंदोलन को कमजोर करने के लिए देर रात अचानक ही गाजीपुर बाॅर्डर पर चले रहे धरना स्थल की बिजली आपूर्ति को बन्द करा दिया।

गाजीपुर बाॅर्डर की बिजली काटी, किसानों ने कब्जाए टोल
X

मुजफ्फरनगर। होली के दिन किसान आंदोलन ने नई करवट ली है। किसानों ने गाजीपुर बाॅर्डर सहित अन्य स्थानों पर केन्द्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों की प्रतियों को फूंककर होलिका दहन किया, तो सरकार ने भी किसानों के आंदोलन को कमजोर करने के लिए देर रात अचानक ही गाजीपुर बाॅर्डर पर चले रहे धरना स्थल की बिजली आपूर्ति को बन्द करा दिया। गाजीपुर बाॅर्डर की बिजली स्थानीय प्रशासन द्वारा काट दिये जाने से किसानों में आक्रोश फैल गया। भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी किसानों को लेकर रात्रि में ही सड़कों पर उतर आये और टोल प्लाजाओं पर कब्जा जमा लिया और इनको टोल फ्री कर दिया। इससे पुलिस प्रशासन में हड़कम्प मच गया। यहां तक शासन में किसानों के इस प्रदर्शन की गंूज पहुंची तो रात्रि में ही अधिकारी एक्टिव हो गये। किसानों ने आरोप लगाया कि केन्द्र और राज्य सरकार किसानों के इस आंदोलन को बदनाम करने की साजिश करते हुए ऐसी औछी हरकतें कर रही है।


बता दें कि गाजीपुर बाॅर्डर पर आज ही भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौ. राकेश टिकैत ने संयुक्त किसान मोर्चा के धरना स्थल पर बिजली की निर्बाध व्यवस्था कराने के लिए लगाये गये सोलर पैनल का शुभारम्भ किया था। शाम के समय यहां पर किसानों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ रोष प्रकट करते हुए होलिका दहन किया और देर रात में ही गाजीपुर बाॅर्डर की विद्युत आपूर्ति को बन्द कर दिया गया। इससे आक्रोशित किसानों ने गाजीपुर बाॅर्डर पर तो प्रदर्शन शुरू किया ही, दूसरे हिस्सों में भी किसान सड़कों पर उतर आये।

भारतीय किसान यूनियन के शीर्ष नेतृत्व का आदेश मिलते ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में किसानों ने सड़कों पर आकर प्रदर्शन किया। मेरठ जनपद में सिवाया टोल प्लाजा पर भाकियू के सहारनपुर मण्डल महासचिव राजू अहलावत के नेतृत्व में सैंकड़ों किसान पहुंचे और टोल प्लाजा पर ही दरी बिछाकर धरना शुरू कर दिया। इसके साथ ही मुजफ्फरनगर जनपद में सहारनपुर मुजफ्फरनगर स्टेट हाईवे पर रोहाना खुर्द में टोल प्लाजा पर भी किसानों ने रात्रि में ही कब्जा जमा लिया और दिल्ली देहरादून नेशनल हाईवे पर छपार टोल प्लाजा पर भी किसानों ने धरना शुरू करते हुए सभी टोल को फ्री करा दिया। किसानों के इस प्रदर्शन से हड़कम्प मच गया। भाकियू नेताओं ने भी किसानों से सम्पर्क करते हुए दिल्ली कूच के लिए तैयार रहने का इशारा कर दिया था।


भाकियू के जिलाध्यक्ष धीरज लाटियान ने बताया कि देर रात गाजीपुर बाॅर्डर पर विद्युत आपूर्ति को अचानक ही बन्द कर दिया गया। इससे किसानों में रोष है। उन्होंने बताया कि गाजियाबाद प्रशासन को भी इसकी जानकारी नहीं थी। नेशनल हाईवे अथारिटी आॅफ इंडिया के अधिकारियों ने गाजीपुर बाॅर्डर पर धरना स्थल की बिजली आपूर्ति को बन्द कराया था। इसी कारण हाईवे अथारिटी के खिलाफ रोष जताने के लिए भाकियू कार्यकर्ताओं ने टोल प्लाजाओं पर प्रदर्शन किया।

किसानों के इस प्रदर्शन के उपरांत स्थानीय प्रशासन में भी हड़कम्प मच गया। रोहाना टोल प्लाजा पर पुलिस बल पहुंचा। तो वहीं मेरठ में भी पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने पहुंचकर किसानों को समझाने का प्रयास। पुलिस प्रशासन होलिका दहन की सुरक्षा व्यवस्था में जुटा हुआ था कि अचानक ही किसानों के इस प्रदर्शन से अफसरों में भागदौड़ शुरू हो गयी। देर रात तक भी किसानों का यह धरना जारी रहा। भाकियू के वरिष्ठ नेताओं ने पुलिस प्रशासन के अफसरों ने फोन पर सम्पर्क किया। वहीं गाजियाबाद में भी प्रशासन ने समस्या का समाधान कराने के प्रयास शुरू कर दिये थे।

Next Story