Top
undefined

मुजफ्फरनगर में अनूठी मुहिम-बिना मास्क मिले तो मौके पर जांच

मुजफ्फरनगर जनपद में कोरोना संक्रमण के बढ़ने पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने एक अनूठा अभियान छेड़ दिया है। शहर में पुलिस और प्रशासन को बिना मास्क पाये जाने वाले लोगों को पकड़कर मौके पर ही जांच कराने और रिपोर्ट पाजिटिव पाये जाने पर मौके से ही होम आइसोलेट या हाॅस्पिटल में भर्ती कराने की कार्यवाही करने का काम शुरू कर दिया गया है।

मुजफ्फरनगर में अनूठी मुहिम-बिना मास्क मिले तो मौके पर जांच
X

मुजफ्फरनगर। जनपद में एक ही दिन में 400 के करीब कोरोना पाजिटिव केस सामने आने और एक्टिव केस की संख्या डेढ हजार होने के बाद जिला प्रशासन ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। शहर में बिना मास्क घूम रहे लोगों को ही प्रथम दृष्टया कोरोना संक्रमण फैलाने का दोषी माना जा रहा है। इसके लिए इनके खिलाफ कार्यवाही का अनूठा कदम प्रशासन ने उठाते हुए बड़ा अभियान चलाया है। जनपद में कोरोना संक्रमण के बढ़ने पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने एक अनूठा अभियान छेड़ दिया है। शहर में पुलिस और प्रशासन को बिना मास्क पाये जाने वाले लोगों को पकड़कर मौके पर ही जांच कराने और रिपोर्ट पाजिटिव पाये जाने पर मौके से ही होम आइसोलेट या हाॅस्पिटल में भर्ती कराने की कार्यवाही करने का काम शुरू कर दिया गया है। इसके साथ ही जांच से पहले चालान काटकर जुर्माना वसूलने की कार्यवाही भी करने के निर्देश दिये गये है। इस अभियान को सफल बनाने के लिए शहर में तीन स्थानों पर कोविड-19 केयर सेंटर स्थापित किये गये हैं। अभियान के लिए एडीएम प्रशासन अमित सिंह और नगर मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार पूरे दिन सड़कों पर नजर आये। वहीं डीएम और सीएमओ ने भी तीनों सेंटरों पर जाकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इन सेंटरों पर प्रतिदिन 450 लोगों की एंटीजन


जनपद मुजफ्फरनगर भी अब कोरोना संक्रमण के मामले में तेजी से 2000 एक्टिव केस की ओर बढ़ रहा है। बुधवार को कोरोना संक्रमण ने सारे रिकार्ड ध्वस्त कर दिये। 399 कोरोना संक्रमित सामने आने के साथ ही जनपद में 1424 एक्टिव केस हो गये हैं। जनपद में बढ़ रहे संक्रमण को रोकने के लिए नाइट कफ्र्यू की पाबंदी लागू है, लेकिन तमाम प्रयासों के बावजूद भी संक्रमण जनपद में घातक हो रहा है। ऐसे में जिला प्रशासन ने अब बेहद सख्त कदम उठाया है।


प्रशासन की बिना मास्क के बाजारों में आवागमन करने वाले लोगों पर कड़ी नजर है। प्रशासन का मानना है कि यही लोग संक्रमण की मुख्य चैन साबित हो सकते हैं, इन लोगों पर कार्यवाही करने के लिए जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. के निर्देश पर प्रशासन ने अब नायाब तरीका निकाला है। बाजारों में बिना मास्क पाये जाने वाले लोगों को चालान के साथ ही अपना कोविड-19 टेस्ट भी कराना होगा। टेस्ट पाजिटिव आया तो उनको हाथों हाथ ही उपचार के लिए कोविड अस्पताल भेजने या होम आइसोलेट करने की कार्यवाही करायी जायेगी।

गुरूवार को कोरोना संक्रमण के लिए प्रशासन की सख्ती साफ नजर आयी। शहर में लोगों को कोविड गाइडलाइन का पालन कराने और फेस मास्क की अनिवार्यता के लिए प्रशासन ने शहर में तीन स्थानों पर कोविड-19 केयर सेंटर स्थापित किये हैं। इन केयर सेंटरों पर बाजारों में बिना मास्क के घूमने वाले लोगों की कोविड-19 जांच कराने का काम पुलिस कर्मियों द्वारा किया जायेगा। इस अभियान को सफल बनाने के लिए आज अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह और नगर मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह फोर्स के साथ सड़कों पर उतरे नजर आये।


नगर मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह ने बताया कि जनपद में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। लोगों को प्रशासन द्वारा कोविड गाइडलाइन और मास्क लगाकर रखने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसके लिए चैकिंग अभियान और अन्य सख्त उपाय करने के बावजूद भी लोग गंभीरता नहीं दिखा रहे है। लोगों की लापरवाही के कारण ही जनपद में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। इनमें बिना मास्क के घूम रहे लोगों की भूमिका संभवतः ज्यादा हो सकती है। इसके लिए ही शहर में तीन स्थानों टाउनहाल, मीनाक्षी चौक और भगत सिंह रोड पर तुसली पार्क में कोविड-19 केयर सेंटर स्थापित किये गये हैं।

नगर मजिस्ट्रेट ने बताया कि इस सेंटरों पर शहर के बाजारों में बिना मास्क के ही आवागमन करने वाले लोगों की कोविड-19 सैम्पल लेकर एंटीजन जांच कराने का काम किया जायेगा। स्वास्थ्य विभाग की टीम को यहां पर लगाया गया है। प्रत्येक संेटर पर 30-40 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गयी है। यहां पर जांच से पहले बिना मास्क पाये जाने वाले लोगों का चालान काटकर जुर्माना भी वसूला जायेगा और यदि वह जांच में संक्रमित पाया जाता है तो मौके पर ही ऐसे व्यक्ति के उपचार के लिए कार्यवाही करते हुए उसको या तो होम आइसोलेशन में भेज दिया जायेगा, या कोविड हाॅस्पिटल में भर्ती कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रतिदिन यह कार्यवाही चलेगी। इसके लिए पुलिस अफसरों को अपने अपने क्षेत्र में बिना मास्क चल रहे लोगों को पकड़कर उनकी जांच कराने और जुर्माना करने के निर्देश दिये गये हैं। प्रत्येक सेंटर पर एक दिन में 150 लोगों की जांच करने का लक्ष्य दिया गया है।


प्रशासन की इस सख्ती के कारण आज शहर में हड़कम्प की स्थिति बनी रही। एडीएम प्रशासन और नगर मजिस्ट्रेट ने सड़क पर खड़े होकर बिना मास्क घूम रहे लोगों को पुलिस कर्मियों के सहयोग से कोविड-19 केयर सेंटर पर भेजकर उनकी एंटीजन जांच करायी और चालान भी करवाया। इनमें ई रिक्शा चालक, बाइक चालक और अन्य लोग भी शामिल रहे। कई महिलाओं को भी पकड़कर जांच के लिए भेजा गया। प्रशासन की इस सख्ती के कारण शिव चौक, मीनाक्षी चौक और टाउनहाल रोड पर काफी हलचल नजर आयी। बिना मास्क वाले लोगों को पकड़ने के लिए पुलिसकर्मी सड़कों पर दौड़ते दिखाई दिये। कई लोगों को तो अफसरों ने कड़ी लताड़ भी लगायी।दोपहर बाद डीएम सेल्वा कुमारी जे. और सीएमओ डा. महावीर सिंह फौजदार ने भी शहर में बनाये गये तीनों सेंटरों का निरीक्षण किया। मीनाक्षी चौक पर डीएम ने बिना मास्क मिले लोगों को जमकर हड़काया। इसके साथ ही टाउनहाल पहुंचकर वहां पर की जा रही कार्यवाही का भी जायजा लिया। डीएम ने अफसरों को ये अभियान सख्ती के साथ चलाने के निर्देश दिये हैं।

Next Story