Top
undefined

किसानों के सम्मान में सौ लाठी खाने को तैयारः जयंत

रालोद की लोकतंत्र बचाओ रैली में विपक्षी दलों के नेताओं ने सीएम योगी को बताया अहंकारी, आरपार का ऐलान, कांग्रेस, सपा, इनेलो, जनता दल एस नेताओं सहित खाप चौधरियों ने की चरण सिंह की विरासत बचाने की अपील

किसानों के सम्मान में सौ लाठी खाने को तैयारः जयंत
X

मुजफ्फरनगर। हाथरस में वाल्मीकि समाज की युवती से गैंगरेप और हत्या, कृषि कानून और किसानों की समस्याओं को लेकर मुजफ्फरनगर में भाजपा सरकारों के खिलाफ बड़ा आंदोलन हुआ। रालोद की लोकतंत्र बचाओ रैली को विपक्षी दलों का बड़ा समर्थन हासिल हुआ तो रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी के आह्नान पर मुजफ्फरनगर, शामली, बागपत, बिजनौर, सहारनपुर और मेरठ आदि जनपदों से भारी संख्या में किसान इस रैली में शामिल हुए। खाप चौधरियों के साथ आने के कारण जाट समाज के लोगों ने भी बड़ी संख्या में इस रैली में भाग लिया। रैली को सम्बोधित करते हुए जयंत चौधरी ने कहा कि किसानों के सम्मान की खातिर वह अहंकारी सरकार की एक नहीं सौ लाठियां खाने को भी तैयार हैं। इसका जवाब जनता इन सरकारों से लेगी। उन्होंने रैली में जुटे किसानों के साथ ही विपक्षी दलों और सामाजिक संगठनों के लोगों का आभार भी जताया।

रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने रैली को सम्बोधित करते हुए कहा कि लोकतंत्र बचाओ के आह्नान पर आने वाले हर व्यक्ति का मैं आभारी हूं, ये लोग यहां पर इसलिए आये हैं कि वो जानते हैं, जो लाठी चलाई गई वह भाजपा की देश और प्रदेश से किसान राजनीति खत्म करने की साजिश है। उन्होंने कहा कि सरकार याद रखे नौजवानों का खून गरम है। मुजफ्फरनगर ने बड़े आंदोलन देने का काम देश के लिए किया है। बड़े बड़े बादशाहों को यहां के लोगों ने रास्ता दिखाया है। कई आंदोलन किये गये हैं। मुजफ्फरनगर के लोग मेरे अपने लोग हैं। उन्होंने सीएम योगी पर निशाना साधते हुए कहा कि बाबा जी मेरी आपसे कोई व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है।

इनेलो हरियाणा के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला ने कहा कि मुजफ्फरनगर की धरती चौधरी चरण सिंह की कर्मभूमि रहा है। यहां पर उन्होंने राजनीतिक तौर पर लोगों के बीच जाकर एकजुट किया और उनको ताकत दी। आज फिर समय ऐसा आया है कि जिस प्रकार चरण सिंह ने यूपी के किसानों को एक बिरादरी के रूप में एकजुट किया था, उसी प्रकार जयंत ने इनको एक मंच पर लाने का काम कर दिखाया है। भाजपा सरकारों ने लाठी और गोली के जोर पर किसानों पर अत्याचार किया। आज कृषि कानून के सहारे भाजपा ने किसानों को उनकी भूमि से बेदखल कर मजदूर बनाने की साजिश की है। चौ. ओमप्रकाश चौटाला किसानों के शोषण पर कई बार यहां आकर आवाज उठाई। चौ. देवीलाल और ओपी चौटाला ने हमेशा ही किसानों के हितों की चिंता की। किसानों को संगठित किया। लाठी का डर दिखाकर किसानों की ताकत को कमजोर करना चाहती है यह सरकार, दलगत राजनीति से ऊपर उठकर योगी और मोदी सरकारों के खिलाफ हमें लामब( होना होगा। अगले चुनावों में भाजपा को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

सपा नेता और पूर्व सांसद बदायूं धर्मेन्द्र सिंह यादव ने अपने सम्बोधन में कहा कि हाथरस में पीड़ित परिवार से मिलने जाते हुए जयंत चौधरी पर लाठीचार्ज निंदनीय है। मैं आज यहां पर अपने नेता अखिलेश यादव का संदेश लेकर आया हूं, इसमें उन्होंने कहा है कि जयंत चौधरी पर चलाई गई लाठी किसान के सम्मान और चौधरी चरण सिंह की विचारधार पर मारी गयी है। सपा पूरी तरह से अजित सिंह और जयंत चौधरी के साथ खड़ी है। वह बोले कि अखिलेश यादव ने कहा है कि पश्चिम के नौजवानों से जाकर कहना कि चरण सिंह की जो विरासत है, उसको अजित सिंह मुलायम सिंह ने आगे बढ़ाया है, अब जयंत और अखिलेश उसको आगे बढ़ाने का काम करेंगे।

कांग्रेस के सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि आज जिस तरह से विपक्षी दलों के नेताओं और आम लोगों को, मीडिया को हाथरस में पीड़ित परिवार से मिलने से रोका गया। लाठीचार्ज किया गया, उससे साबित होता है कि यूपी में आज अहंकारी लोगों की सरकार है। इस अहंकारी सरकार का यह रवैये विपक्ष कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। कांगे्रस जयंत के इस आंदोलन में पूरी तरह से साथ खड़ी है। यूपी में हमारे नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ पुलिस बुरा बर्ताव करती है। पूरे विपक्ष को अनदेखा किया जा रहा है। यह अहंकार भाजपा को भविष्य में भारी पड़ेगा। आज में यहां पर प्रियंका जी का संदेश लेकर किसानों के बीच आया हूं, किसानों के हितों के लिए कांग्रेस पार्टी हर स्तर तक जाने को तैयार है। पंजाब से बड़े आंदोलन की शुरूआत कांग्रेस कर चुकी है।

Next Story