Top
undefined

रात साढ़े नौ बजे के बाद चौराहों पर दिखे तो खैर नहीं!

जिलाधिकारी के निर्देश पर एक्टिव मोड पर आये अफसर, सिटी मजिस्ट्रेट ने चलाया अभियान, रात्रि में होटलों-ढाबों पर अनावश्यक भीड़भाड़ करने पर कार्यवाही की दी चेतावनी, हाईवे और मुख्य चौराहों पर अब निगरानी शुरू

रात साढ़े नौ बजे के बाद चौराहों पर दिखे तो खैर नहीं!
X

मुजफ्फरनगर। कोरोना की दूसरी लहर की दस्तक के बीच ही नई व्यवस्थाओं ने जन्म लेना शुरू कर दिया है। शासन से नई पाबंदियां जारी होने लगी है। ऐसे में बाजारों में देर रात तक भी भीड़भाड़ और असामाजिक तत्वों के जमावड़े को रोकने के लिए जिला प्रशासन भी पूरी तरह से एक्टिव मोड पर आ गया है। जिलाधिकारी ने रात्रि में हाईवे से लेकर शहर के चौराहों और होटलों व ढाबों पर असामाजिक तत्वों के अनावश्यक जमावडे की मिल रही शिकातयों का संज्ञान लेकर बड़ा अभियान शुरू कराया है। रात्रि में पुलिस और प्रशासनिक अफसरों की टीमों द्वारा भ्रमण कर आकस्मिक चैकिंग की जायेगी, इसमें रात्रि साढ़े नौ बजे के बाद अनावश्यक रूप से सड़क पर घूमते पाये जाने वाले लोगों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने की चेतावनी अफसरों ने दी है। इसके लिए बीती रात सिटी मजिस्ट्रेट पुलिस फोर्स के साथ भ्रमणशील नजर आये। उन्होंने कई होटलों पर जाकर चैकिंग की।

असामाजिक तत्वों की रोकथाम के लिए प्रदेश शासन ने सभी जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों को रात्रि चैकिंग करने और देर रात तक भी बाजारों में अनावश्यक घूमने वाले लोगों पर कार्यवाही करने के लिए सख्ती करने के निर्देश दिये थे। इसी क्रम में जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने शहर के कुछ चौराहों और होटलों व ढाबों पर देर रात तक भी भारी भीड़ और असामाजिक तत्वों के जामवडे के साथ ही होटल व ढाबों वालों के द्वारा सड़कों पर अवैध रूप से पार्किंग के बहाने भीड़भाड़ करने के मामले की शिकायतों को देखते हुए अभियान चलाने के निर्देश दिये हैं। शनिवार देर रात डीएम के निर्देशों के तहत सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह भारी पुलिस फोर्स के साथ मीनाक्षी चैक पर पहुंचे। उन्होंने यहां पर चाय, जूस की दुकानों के साथ ही होटलों और ढाबों पर जाकर चैकिंग की। इनके द्वारा सड़क पर किये गये अस्थाई अतिक्रमण को लेकर भी हिदायत दी। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि रात 9.30 बजे के बाद सड़क पर कोई भी हुजूम दुकानों के सामने नजर आया तो ऐसे में दुकानदारों पर भी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि अनावश्यक रूप से घर से बाहर पाये जाने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया जाएगा। सूत्रों के अनुसार शहर के कई चौराहों पर अनावश्यक रूप से जमावडा होने और खासकर मिनाक्षी चौक को लेकर लगातार शिकायत प्रशासन को मिल रही थी। सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह ने फोर्स के साथ यहां पर दुकानों के बाहर किये गये अस्थाई अतिक्रमण और वाहनों को हटवाया गया। इस अभियान से होटलों वालों में खासा हड़कम्प मचा रहा। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि यह आकस्तिक चैकिंग अभियान जारी रखा जायेगा। दुकानदारों को हिदायत दे दी गयी है कि वह किसी भी रूप में अनावश्यक भीड़ जमा न होने दें।

एडीएम एफ आलोक कुमार ने देर रात किया निरीक्षण, परखी अलावा व्यवस्था


मुजफ्फरनगर। शनिवार देर रात एडीएम एफ आलोक कुमार भी सड़कों पर नजर आये। उन्होंने ठण्ड के बढ़ रहे प्रकोप के मद्देनजर शहर में नगर पालिका परिषद् द्वारा की गयी अलाव व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान पालिका ईओ विनय कुमार मणि त्रिपाठी भी उनके साथ रहे। बता दें कि राज्य सरकार ने ठण्ड में निराश्रित और बेसहारा लोगों के लिए शेल्टर होम के साथ ही अलाव की व्यवस्था पर ज्यादा जोर दिया है। डीएम सेल्वा कुमारी जे. द्वारा लगातार रात्रि भ्रमण कर शेल्टर होम की व्यवस्थाओं को परखा जा रहा है। ऐसे में डीएम के निर्देशन में एडीएम एफ आलोक कुमार भी अन्य अफसरों के साथ निरीक्षण पर निकले। उन्होंने रेलवे रोड, आर्य समाज रोड, मेरठ रोड जानसठ रोड आदि का भ्रमण करते हुए अलााव जलाने की व्यवस्था को परखा और शेल्टर होम में जाकर वहां पर ठहरने वाले लोगों के लिए गर्म कपड़ों व अन्य व्यवस्था की जानकारी ली।

Next Story