Top
undefined

मुजफ्फरनगर में हर छठा व्यक्ति मिल रहा संक्रमित-कलेक्ट्रेट में सिपाही सहित दो पाजिटिव

महावीर चौक पर बीते दिन 50 जांच में से आठ लोग कोरोना पाजिटिव पाये गये थे। यानि हर छठा व्यक्ति संक्रमित मिल रहा है।

मुजफ्फरनगर में हर छठा व्यक्ति मिल रहा संक्रमित-कलेक्ट्रेट में सिपाही सहित दो पाजिटिव
X

मुजफ्फरनगर। जनपद में अब हर जगह कोरोना ही कोरोना नजर आ रहा है। जिधर देखो भीड़भाड़ ने बुरा हाल कर दिया हैं, कहीं भी कोविड गाइड लाइन का पालन नहीं होने के कारण लगातार भारी संख्या में कोरोना संक्रमित लोग जिले के शहर से गांव और देहात तक मिल रहे है। जेल हो या अस्पताल कहीं भी कोई सुरक्षित नहीं है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार ही जिले में अब हर छठा व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिल रहा है। आज भी कलेक्ट्रेट में स्वास्थ्य टीम के जांच शिविर में दो लोग मात्र आठ जांच में ही कोरोना पाजिटिव पाये गये। इनमें एक सिपाही भी शामिल है। जबकि महावीर चौक पर बीते दिन 50 जांच में से आठ लोग कोरोना पाजिटिव पाये गये थे। यानि हर छठा व्यक्ति संक्रमित मिल रहा है। ऐसे में अगले कुछ दिनों में जिले के हालात और भी अधिक खराब हो सकते हैं। हमें अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरुक रहकर सावधनी बरतनी होंगी।

बता दें कि स्वास्थ्य विभाग लगातार लोगों को कोरोना वायरस रूपी महामारी और इसकी भयावह स्थिति को लेकर जागरुक कर रहा है। जिला प्रशासन की ओर से नगरीय क्षेत्र में लगातार प्रचार प्रसार किया जा रहा है। प्रचार के लिए नगरपालिका परिशद् की ओर से महावीर चैक पर कोरोना सलाह केन्द्र का भी शुभारम्भ किया गया है, लेकिन हम हैं कि सुधरने के नाम ही नहीं ले रहे हैं। आज स्थिति यह है कि जनपद में कोरोना संक्रमण लगातार तेजी से बढ़ रहा है और पिछले कुछ दिनों से हर छठा व्यक्ति ही संक्रमित मिल रहा है। सोमवार को 285 लोगों के कोविड-19 के तहत स्वैब सैम्पल की रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग को प्राप्त हुई थी, इनमें से 65 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये, यानि इनमें से हर पांचवें व्यक्ति को कोरोना निकला। यह संख्या जनपद में अब तक सर्वाधिक रही है। इसके साथ ही जनपद में एक्टिव केस की संख्या 454 हो चुकी है। यह आंकडा तेजी से 500 की ओर बढ़ रहा है। जनपद में गांव हो, देहात या फिर शहर हर कोना कोरोना वायरस की मौजूदगी का जोरदार ढंग से अहसास करा रहा है। जेल तो मोनो कोरोना का केन्द्र ही बनकर रह गयी हो। इसके बाद भी शहर से गांव तक लोग लापरवाही भरा जीवन जी रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के द्वारा शहर से देहात तक लगातार कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। इसके लिए कोविड जांच की संख्या बढ़ाने के लिए शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। कलेक्ट्रेट स्थित डीएम कार्यालय परिसर में स्वास्थ्य विभाग की सचल दल इकाई के द्वारा कोविड टेस्ट के लिए नियमित कैम्प का आयोजन हो रहा है। यहां पर 50 से 60 लोगों की प्रतिदिन आरटीपीसीआर और रैपिड एंटीजन किट से जांच की जा रही है। मंगलवार को भी यहां पर कैम्प का आयोजन किया गया। यहां पर सवेरे 11 बजे तक करीब आठ लोगों का टेस्ट किया गया है। इनमें दो कोरोना पाजिटिव पाये गये। यहां पर आर्यपुरी निवासी एक व्यक्ति के साथ ही पुलिस लाइन में तैनात सिपाही ने अपना कोविड रैपिड एंटीजन टेस्ट कराया। ये दोनों पाजिटिव पाये गये हैं। रैपिड जांच का पता चलते ही सिपाही भी वहां से रफू चक्कर हो गया। स्वास्थ्य टीम यहां लगातार जांच के लिए जुटी रही। शाम को टीम द्वारा आरटीपीसीआर सैम्पल को लैब में जांच के लिए भिजवा दिया जाता है, वहीं रैपिड एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट सीएमओ कार्यालय को दे दी जाती है।

Next Story