Top
undefined

आईपीएस अभिषेक-यादगार बना स्वतंत्रता दिवस

74वां स्वतंत्रता दिवस जनपद मुजफ्फरनगर पुलिस के लिए यादगार रहा। रोहित सांडू मुठभेड़ कांड का ईनाम एसएसपी अभिषेक यादव, एसपी सिटी सतपाल अंतिल के साथ ही पांच पुलिसकर्मियों को राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार सम्मान के रूप में मिला, तो वहीं कुछ अन्य पुलिसकर्मियों को उनके सराहनीय कार्यों के लिए मेडल दिये गये।

आईपीएस अभिषेक-यादगार बना स्वतंत्रता दिवस
X

मुजफ्फरनगर। जनपद को कोरोना वायरस संक्रमण से जल्द ही मुक्त करने के संकल्प के साथ आज लाॅक डाउन के बीच जनपद भर में 74वें स्वतंत्रता दिवस के राष्ट्रीय पर्व को मनाया गया। यह 74वां स्वतंत्रता दिवस जनपद मुजफ्फरनगर पुलिस के लिए यादगार रहा। रोहित सांडू मुठभेड़ कांड का ईनाम एसएसपी अभिषेक यादव, एसपी सिटी सतपाल अंतिल के साथ ही पांच पुलिसकर्मियों को राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार सम्मान के रूप में मिला, तो वहीं कुछ अन्य पुलिसकर्मियों को उनके सराहनीय कार्यों के लिए मेडल दिये गये। इसके साथ ही एसएसपी अभिषेक यादव के लिए यह स्वतंत्रता दिवस काफी यादगार पल वाला रहा। उनको राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार के साथ ही राज्य के डीजीपी प्रशंसा चिन्ह गोल्ड से भी सम्मानित किया गया, वैसे तो उनको 15 अगस्त 2019 को भी एसएसपी अभिषेक यादव को डीजीपी प्रशंसा चिन्ह सिल्वर से सम्मानित किया जा चुका है, लेकिन यह पल उनके लिए काफी यादगार रहा।


शनिवार को जनपद भर में 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। इस अवसर पर पुलिस लाइन में आज सवेरे नौ बजे पुलिस कर्मियों ने स्वतंत्रता दिवस मनाया। यहां एसएसपी अभिषेक यादव ने गार्ड सलामी के उपरांत ध्वजारोहण किया। मुख्य अतिथि जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने यहां एसएसपी अभिषेक यादव व पुलिस कर्मचारियों को सम्मान प्रतीक चिन्ह भेंट किया। डीएम ने एसएसपी अभिषेक यादव को डीजीपी प्रशंसा चिन्ह गोल्ड उनकी वर्दी पर टैग करते हुए सम्मानित किया। इसके साथ ही उनको प्रमाण पत्र भी प्रदान किया गया। यहां एसएसपी अभिषेक यादव व एसपी सिटी सतपाल अंतिल को गैलेंट्री अवार्ड भी प्रदान किये गये। इसके बाद डीएम और एसएसपी ने जनपद में पुलिस कर्मियों को उनकी बहादुरी और सराहनीय कार्य के लिए डीजीपी, राज्य एवं केन्द्र सरकार की ओर से दिये गये विभिन्न मेडल देकर सम्मानित किया। डीएम सेल्वा कुमारी जे. ने अपने भाषण में कहा कि देश की सुरक्षा पुलिस और सेना के कंधों के ऊपर है। कोरोना संकट में पुलिस कर्मियों ने ड्यूटी के प्रति जिस समर्पण को प्रस्तुत किया है, वह प्रशंसनीय है। एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि आज स्वतंत्रता दिवस मनाया गया है, मैं सभी पुलिसकर्मी और मुजफ्फरनगर वासियों को शुभकामनाएं देता हूं। सभी पुलिसकर्मी बिना भेदभाव अपना फर्ज ईमानदारी से निभाते रहे।

यह स्वतंत्रता दिवस एसएसपी अभिषेक यादव के साथ ही जिले में तैनात कुछ पुलिस अफसरों और कर्मचारियों के लिए अविस्मरणीय पल लेकर भी आया। पुलिस लाइन में आकाश की ओर शान से लहराते तिरंगा ध्वज के नीचे खाकी वर्दी में वीरता की मिसाल पेश करते हुए अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाने का जौहर दिखाने और सराहनीय कार्य करते हुए जनता के बीच पुलिस की छवि को सुधारने में सहयोगी बने पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया गया।

सबसे बड़ा ईनाम एक लाख के ईनामी रोहित सांडू और उसके गिरोह के बदमाशों के सफाये के लिए मुजफ्फरनगर पुलिस को मिला। जिस दिन मुजफ्फरनगर में पुलिस कप्तान का चार्ज 2012 बैच के आईपीएस अभिषेक यादव ने संभाला, उसी दिन दारोगा को गोली मारकर पुलिस अभिरक्षा से भाग निकले पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुख्यात रोहित सांडू व उसके साथी राकेश यादव को मुजफ्फरनगर में पुलिस ने घटना के 14 दिन बाद ही 16 जुलाई 2019 को मार गिराया था। तत्कालीन एडीजी जोन मेरठ प्रशांत कुमार की अगुवाई में हुई इस मुठभेड़ में एसएसपी अभिषेक यादव, एसपी सिटी सतपाल अंतिल, क्राइम ब्रांच के उपनिरीक्षक प्रवेश कुमार व उप निरीक्षक अजय कुमार तथा सिपाही विनीत कुमार कपासिया शामिल थे। इन सभी को राष्ट्रपति के वीरता पुरस्कार प्रेजीडेंट मेडल आॅफ गैलेंट्री से सम्मानित किया गया।


इसके अलावा आज पुलिस लाइन में तैनात उप निरीक्षक चन्द्रपाल भारद्वाज को सराहनीय सेवा के लिए राष्ट्रपति की ओरसे पुलिस मेडल, यूपी 112 में सेवारत मुख्य अरक्षी करन सिंह को सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह और थाना भोपा में तैनात महिला आरक्षी पूनम को सिल्वर डिस्क प्रदान कर सम्मानित किया गया।

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से एसपी सिटी सतपाल अंतिल, एसपी देहात नेपाल सिंह, एसपी क्राइम दुर्गेश कुमार सिंह, एसपी ट्रैफिक राम अभिलाश त्रिपाठी, सीओ नई मंडी धनंजय कुमार कुशवाहा, आरआई अब्दुल रईस खान सहित अन्य पुलिस अफसर व कर्मचारी मौजूद रहे। इसके अलावा एसएसपी कार्यालय पर सवेरे नौ बजे एसपी देहात नेपाल सिंह ने ध्वजारोहण किया। यहां पुलिस कर्मियों को मिठाईं वितरित की गयी।

Next Story