Top
undefined

मुजफ्फरनगर में 41 दिन बाद खुली खाद-बीज की दुकानें, लाॅक डाउन में पुलिस हुई परेशान

पुलिस की इस सख्त चैकिंग के बावजूद भी लोगों में पाबंदी का कोई भी भय नहीं नजर आ रहा था। शहर में सवेरे से ही दो पहिया और चार पहिया वाहनों के साथ ही रिक्शा, रेहडे और ई रिक्शा का संचालन जोरदार ढंग से हो रहा था।

मुजफ्फरनगर में 41 दिन बाद खुली खाद-बीज की दुकानें, लाॅक डाउन में पुलिस हुई परेशान
X

मुजफ्फरनगर। आज वीकेंड लाॅक डाउन का नया अंदाज शहर में देखने को मिला। यहां पर आज लाॅक डाउन में मुख्य बाजार में अच्छी हलचल रही। शासन के आदेश के बाद शहर के साथ ही जनपद में खाद और बीज की दुकानों के शटर खुले नजर आये तो वहीं लाॅक डाउन का पालन कराने के लिए सड़कों पर सतर्क दिखे पुलिसकर्मियों को भी लोगों को रोकने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ा। शहर में हर चैराहे पर पुलिस चैकिंग के लिए बेहद सख्त नजर आयी, लेकिन इस पाबंदी और सख्ती के बावजूद भी लोग उतने ही मस्त और बेफ्रिक भी दिखाई दिये। इसके साथ ही खाद और बीज की दुकानें खुली तो जरूर लेकिन ग्राहकों की इतनी भीड़ नहीं दिखाई दी।


बता दें कि प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में 55 घंटे का वीकेंड लाॅक डाउन घोषित किया था। इसकी शुरूआत 10 जुलाई को रात 10 से की गई थी। इसके बाद इसको प्रत्येक वीकेंड के लिए निर्धारित कर दिया गया। पहला लाॅक डाउन बेहद सख्त पाबंदी वाला रहा, इसमें रोडवेज बसोें को भी रोक दिया गया था, लेकिन बाद में पहले रोडवेज बसों के संचलन और फिर शराब की दुकानों को इसमें छूट दी गयी। इस बार यह छूट किसानों को राहत देने के लिए खाद, बीज और कृषि यंत्रों की दुकानों तक जा पहुंची है। यह लाॅक डाउन शुक्रवार की रात्रि 10 बजे से सोमवार की सुबह 5 बजे तक जारी रहता है।


शनिवार को सवेरे लाॅक डाउन का पालन कराने के लिए पुलिस कर्मचारियों की टीम शहर के सभी प्रमुख चैराहों शिव चैक, महावीर चैक, प्रकाश चैक, मालवीय चैक, हनुमान चैक, शामली रोड पुलिस चैकी, अहिल्याबाई चैराहा, रुड़की चुंगी चेकपोस्ट पर सतर्क नजर आयी। पुलिस की इस सख्त चैकिंग के बावजूद भी लोगों में पाबंदी का कोई भी भय नहीं नजर आ रहा था। शहर में सवेरे से ही दो पहिया और चार पहिया वाहनों के साथ ही रिक्शा, रेहडे और ई रिक्शा का संचालन जोरदार ढंग से हो रहा था। शिव चौक पर पुलिस द्वारा अनावश्यक आवाजाही को रोकने के लिए बेरिकेडिंग भी की गयी थी, यहां पर पुलिस कर्मी और यातायात पुलिस के सिपाही भी चैकिंग में मुस्तैद नजर आये, इसके बाद भी यहां पर भरपूर आवाजाही देखने को मिली। पुलिस कर्मियों के द्वारा कुछ वाहनों के चालान भी काटे गये और बिना मास्क के मिले लोगों को कड़ी नसीहत भी दी गयी, लेकिन इसके बाद भी आवाजाही को रोकने में पुलिस कर्मचारी विफल ही नजर आये। एक बार तो शिव चौक पर वाहनों की कतार लग गयी थी। यहां अच्छी खासी भीड़ देखने को मिली। पुलिस द्वारा जिस भी वाहन को रोका जाता, उस पर सवार लोगों के पास अपनी सफाई में तरह तरह के बहाने मौजूद मिलते।


पुलिस कर्मियों को चैकिंग के दौरान आज अच्छी खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि शहर में सवारियों के लिए ई रिक्शा भी चल रही थी, लेकिन शहर में बाहर से आने वाले लोगों को इनकी कमी खली। कई परिवारों और लोगों को रोडवेज बस स्टैण्ड से सामान और बच्चों को संभालते हुए पैदल ही गुजरते हुए देखा गया। इन लोगों को लाॅक डाउन के कारण ई रिक्शा या अन्य कोई सवारी का साधन नहीं मिल पाया। दोपहर बाद शिव चैक का नजारा सन्नाटा जैसा हो गया था, लेकिन फिर भी वाहन चलते रहे। लोगों ने भी खूब आवाजाही बाजारों में रखी। यहां कचहरी रोड सहित शहर के अन्य हिस्सों में खाद, बीज और कृषि यंत्रों की दुकानों को पहली बार लाॅक डाउन में खुला देखा गया। शासन की ओर से वीकेंड लाॅक डाउन में किसानों को राहत प्रदान करते हुए खाद बीज की दुकानों को पाबंदी से छूट दी गयी है। करीब 41 दिनों के बाद जनपद में खाद और बीज आदि की दुकानों को खोला गया, कचहरी रोड पर दुकानों को सवेरे से ही खुला रखा गया था। यहां दुकानें खुलने पर किसान इन दुकानों पर पहुंचे तो जरूर लेकिन भीड़भाड़ नहीं थी।

Next Story