Top
undefined

अब डीएम दफ्तर में गन्ना भरेंगे किसानः राजू अहलावत

भाकियू ने सोमवार से किया आंदोलन का ऐलान, जनप्रतिनिधियों की बेरूखी पर जताया रोष, किसानों से ट्रैक्टर ट्रालियों में गन्ना भरकर लाने का किया आह्नान, जिला प्रशासन मनाने में जुटा

अब डीएम दफ्तर में गन्ना भरेंगे किसानः राजू अहलावत
X

मुजफ्फरनगर। गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर एक बार फिर से भारतीय किसान यूनियन ने आंदोलन का ऐलान कर दिया है। इस बार डीएम दफ्तर में भाकियू ने किसानों के साथ गन्ना भरने की चेतावनी दी है। मामला एक गांव में गन्ना सेंटर नहीं होने को लेकर खड़ा हुआ है। किसानों के आग्रह के बाद भी वहां पर गन्ना तौल केन्द्र नहीं लगाया गया है। अब जिला प्रशासन भाकियू नेताओं के साथ वार्ता में जुटा है। यदि मामला नहीं बना तो सोमवार को भाकियू नेताओं के साथ किसान डीएम दफ्तर का घेराव करेंगे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार चरथावल विकास खण्ड के गांव पिलखनी में गन्ना सेंटर न होने के कारण समस्त गांव वासी अपना गन्ना 4 किलोमीटर दूर दूसरे गांव के सेंटर पर तोलते हैं। यह व्यवस्था भी किसानों को पूरे सीजन नहीं मिल पाती है, क्योंकि उस सेंटर पर हमेशा ही गन्ना भरा रहता है। पहले वहां पर उसी गांव के किसानों का गन्ना तौलकर मिल पर पहुंचाया जाता है। सेंटर तक जाने का रास्ता भी बेहद खराब बताया गया है, इससे आवागमन भी भारी परेशानी का सामना किसानों को करना पड़ रहा है। भाकियू के सहारनपुर मंडल के महासचिव राजू अहलावत ने बताया कि गांव पिलखनी के किसान कई दिनों से इस समस्या के समाधान के लिए धरना दे रहे हैं, लेकिन कोई भी काम अधिकारियों ने नहीं किया है। उन्होंने कहा कि किसानों के आंदोलन पर अफसरों ने पिलखनी में गन्ना सेंटर देने का वादा भी किया, लेकिन क्षेत्र के कुछ राजनीतिक लोगों ने इसमें अड़चन पैदा करने का काम किया। ये लोग किसानों की समस्याओं को समाधान नहीं कराना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अब किसानों की समस्याओं को लेकर भाकियू सोमवार को डीएम दफ्तर पर धरना देगी। उन्होंने किसानों ने ट्रैक्टर ट्रालियों में गन्ना लेकर डीएम दफ्तर पहुंचने का आह्नान करते हुए कहा कि यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का कहना है कि किसानों के गन्ने का स्थान शुगर मिल है या फिर डीएम दफ्तर, जब तक समाधान नहीं हो पाता डीएम दफ्तर से किसान नहीं हटेंगे।

वहीं दूसरी ओर भाकियू के डीएम दफ्तर के घेराव के ऐलान के बाद रविवार को ही गन्ना विभाग के अफसरों के साथ ही प्रशासनिक अफसरों ने भी गांव पिलखनी के किसानों के साथ वार्ता की है। वार्ता में समाधान की उम्मीद है, ऐसा नहीं होने पर सोमवार को किसानों के द्वारा डीएम दफ्तर का घेराव किया जायेगा। राजू अहलावत ने कहा कि भाकियू किसानों के लिए आरपार की लड़ाई लड़ने की पूरी तैयार कर चुकी है। बता दें कि हाल ही में किसानों की समस्याओं को लेकर भाकियू ने बिजली विभाग के कार्यालय नुमाइश कैम्प से बेमियादी आंदोलन चलाया था।

Next Story