Top
undefined

मुजफ्फरनगर में कोरोना को आमंत्रण दे रहे लोग, आधार केन्द्रों पर भारी भीड़

मुजफ्फरनगर जनपद में प्रशासनिक व्यवस्था के लिए नई चुनौती आधार केन्द्र बन हैं। यहां पर आधार पंजीकरण कराने के लिए कोरोना संक्रमण काल में भारी भीड़ नया संकट खड़ा कर रही है।

मुजफ्फरनगर में कोरोना को आमंत्रण दे रहे लोग, आधार केन्द्रों पर भारी भीड़
X

मुजफ्फरनगर। कोरोना वायरस संक्रमण का प्रभाव भले ही जनपद में तेजी से विस्तार की ओर अग्रसर हो रहा हो, लेकिन यहां पर किसी को भी इस गंभीर महामारी को लेकर कोई भय नजर नहीं आता है। बाजारों में जहां-तहां भीड़ का आलम बरकरार है तो अब आधार केन्द्रों पर भारी भीड़ नई चुनौतियां पेश कर रही है। इसमें सोशल डिस्टेंस को दूर की कौड़ी नजर आता है। मास्क लगाना भी लोग उचित नहीं समझ रहे हैं।

बता दें कि जनपद में कोरोना वायरस का संक्रमण प्रतिदिन बढ़ रहा है। वर्तमान में करीब 300 एक्टिव केस मुजफ्फरनगर में होने के कारण जिला प्रशासन लगातार लोगों से सावधानी बरतने की अपील कर रहा है, लेकिन रोजमर्रा की जिन्दगी में उलझे लोग ऐसी सभी अपील को दरकिनार करते हुए खतरनाक स्थिति तक पहुंचने से भी नहीं घबरा रहे हैं। जिला प्रशासन के आदेशों और कोरोना गाइडलाइन के अनुसार मास्क और सोलश डिस्टेंस अनिवार्य किया गया है। बैंकों, डाक घरों और अन्य ऐसे सभी स्थानों पर इसका सख्ती से पालन करने और उल्लंघन करने वालों को दण्डित करने का प्रावधान भी इस गाइडलाइन का हिस्सा है, लेकिन गाहे बगाहे हमें ऐसे नजारे खूब देखने को मिल रहे हैं, जहां पर कोविड 19 गाइडलाइन की भरपूर अनदेखी की जा रही है।


मंगलवार को शहर के शिव चैक के पास स्थित सिटी डाकघर में आधार कार्ड केन्द्र पर लोगों की उमड़ी भारी भीड़ ने यह साबित कर दिया कि लोगों के बीच कोरोना महामारी का कोई भी खौफ नहीं है।ै यहां पर कार्यरत कर्मचारी लोगों से सोशल डिस्टेंस और मास्क का प्रयोग करने के लिए अपील करते रहे, लेकिन आधार कार्ड बनवाने के लिए लोगों में इतनी अतुरता था कि यहां पर सिर पर सिर बज रहा था। यहां आधार कार्ड केन्द्र पर आज सवेरे से ही भीड़ का बड़ा आलम था।


यहां प्रतिदिन करीब 20 फार्म लोगों को वितरित किये जाते हैं, जिनके क्रमांक के अनुसार उनको आधार कार्ड पंजीकरण के लिए अपना बायोमैट्रिक व अन्य डाटा फीडिंग के लिए बुलाया जाता है। फार्म लेने के लिए आज यहां पर सैंकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ी नजर आयी। आलम यह था कि डाकघर में दूसरे कार्यों के लिए आने वाले लोगों को पांव रखने की भी जगह नहीं मिल पा रही थी। डाकघर के अन्दर से बाहर सड़क तक भीड़ ही भीड़ थी, जिस कारण यहां पर यातायात व्यवस्था भी प्रभावित रही।

Next Story