Top
undefined

मुजफ्फरनगर में पांच महीनों से बन्द है साप्ताहिक पैठ-व्यापारियों ने की बाजार लगवाने की मांग

मंगलवार को इस पैठ में दुकान लगवाने वाले व्यापारी नुमाइश ग्राउंड खतौली और शाहपुर साप्ताहिक पैठ एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे

मुजफ्फरनगर में पांच महीनों से बन्द है साप्ताहिक पैठ-व्यापारियों ने की बाजार लगवाने की मांग
X

मुजफ्फरनगर। कोरोना संकट काल में कोविड गाइडलाइन के अनुसार बंद की गई जनपद की साप्ताहिक पैठ ;बाजारद्ध को लेकर सरकार का आदेश आने के बाद भी इनको लेकर जिला स्तर पर कोई निर्णय नहीं लिये जाने से इन परिवारों के सामने संकट खड़ा हो गया है। नुमाइश मैदान पर लगने वाली साप्ताहिक पैठ के साथ ही खतौली और शाहपुर की पैठ के व्यापारियों ने अब डीएम से मांग की है कि उनके परिवार की स्थिति को देखते हुए यह पैठ लगवाने के आदेश जारी किये जायें।

बता दें कि प्रत्येक मंगलवार को नुमाइश मैदान पर मंगल बाजार के नाम से साप्ताहिक पैठ लगती आ रही है। कोरोना संकट गहराने पर 25 मार्च 2020 से लाॅक डाउन के बाद से ही इस साप्ताहिक पैठ का आयोजन नहीं किया जा रहा है। मंगलवार को इस पैठ में दुकान लगवाने वाले व्यापारी नुमाइश ग्राउंड खतौली और शाहपुर साप्ताहिक पैठ एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे और उन्होंने डीएम सेल्वा कुमारी जे. के नाम एक प्रार्थना पत्र दिया। इसमें डीएम से कहा गया है कि कोरोना लाॅक डाउन के बाद से ही पूरे जिले में साप्ताहिक बाजार बन्द हैं, जबकि इन बाजारों से सैंकड़ों लोगों की रोजी रोटी चल रही है। आज आलम यह है कि साप्ताहिक पैठ लगातार बन्द रहने के कारण इनसे जुड़े व्यापारियों के परिवार भूखे मर रहे हैं। इन साप्ताहिक पैठ में जूते, कपड़े, सब्जी, फल, मिर्च मसाले आदि का कारोबार किया जाता है। व्यापारियों ने कहा कि वह कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए बाजार में कारोबार करने का तैयार है। 10 फुट की दूरी पर ठिया लगाया जायेगा और मास्क व सेनिटाइजर का प्रयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि 14 जुलाई 2020 को सरकार ने भी आदेश दिया था कि जिलों में साप्ताहिक बाजारों को खुलवाने की व्यवस्था की जाये, लेकिन प्रशासन ने ऐसा कदम नहीं उठाया है। उन्होंने डीएम से इस मामले में सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का आग्रह किया है।

इस अवसर पर मुख्य रूप से बाबू, शिवकुमार, रामकुमार, रमेश कुमार, धर्मवीर, रवि, राजवीर सिंह, जितेन्द्र चैहान, हाफिज अनवर, अमीर अहमद, मुरसलीन, मिन्टू चैहान, प्रविन्द्र प्रजापति, नौशाद, शकील, यूसुफ, रविन्द्र व दिल्ला आदि मौजूद रहे।

Next Story