Top
undefined

आलराउंडर यूसुफ पठान ने क्रिकेट से लिया संन्यास

साल 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ पहली बार पहनी थी टीम इंडिया की जर्सी, टी-20 विश्व कप विजेता टीम का रहे हिस्सा। आईपीएल में सबसे तेज दूसरा शतक किया है अपने नाम।

आलराउंडर यूसुफ पठान ने क्रिकेट से लिया संन्यास
X

नई दिल्ली। क्रिकेट के मैदान पर अपने हरफनमौला खेल से दुनियभर के क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीतने वाले यूसुफ पठान ने आखिरकार संन्यास ले ही लिया। यूसुफ पठान अब इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते हुए नजर नहीं आयेंगे। क्रिकेट से संन्यास लेने के साथ ही यूसुफ पठान से साफ कर दिया है कि वह घेरलू क्रिकेट सीरिज में अपना खेल जारी रखेंगे। उन्होंने इस दौरान इंडियन क्रिकेट टीम की जर्सी के साथ मिली एक बड़ी जिम्मेदारी की याद को भी साझा किया है।

करीब 14 साल पूर्व पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू करने वाले टीम इंडिया के स्टार आलराउंडर क्रिकेटर यूसुफ पठान ने शुक्रवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा करते हुए अपने प्रशंसकों को जोर का झटका देने का काम किया है। भारत के लिए 57 वन-डे और 22 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले यूसुफ पठान ने सोशल मीडिया पर भावुक पोस्ट के साथ क्रिकेट को अलविदा किया। अपने इस पोस्ट में भारतीय क्रिकेटर यूसुफ पठान ने लिखा है कि मैं अपने परिवार, दोस्तों, फैंस, टीमों, कोचों और पूरे देश से टीम इंडिया के एक सदस्य के रूप में मिले समर्थन के लिए तहे दिल से शुक्रिया अदा करता हूं।

यूसुफ पठान ने साल 2007 के टी-20 विश्व कप के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। हालांकि, अपने डेब्यू मैच में वह कुछ खास नहीं कर पाए। वह केवल 15 रन बनाकर आउट हो गए थे। मगर भारत ने फाइनल में पाकिस्तान को पांच रन से हराकर टी-20 विश्व कप का खिताब अपने नाम किया था। यूसुफ पठान साल 2011 में खेले गए विश्व कप में भी टीम इंडिया का हिस्सा रहे थे। पिछले कई साल से भारतीय टीम से बाहर चल रहे थे। साल 2012 में पठान ने अपना आखिरी वन-डे और टी-20 खेला था। आईपीएल में भी किसी फ्रेंचाइजी ने उनको टीम में शामिल करने में दिलचस्पी नहीं दिखाई थी। पिछले साल भी वह आईपीएल नहीं खेले थे और इस साल भी वह नदारद रहे।

आईपीएल में यूसुफ पठान 2008 से लेकर 2019 तक कोलकाता नाइटराइडर्स और राजस्थान रायल्स जैसी शानदार टीम का हिस्सा रहे। यूसुफ पठान ने आईपीएल 2010 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ महज 37 गेंदों में शतक जड़ा था, जो अभी तक टूर्नामेंट का दूसरा सबसे तेज शतक भी है। यूसुफ साल 2019 में सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेलते हुए नजर आए थे। बता दें कि आईपीएल में यूसुफ ने 174 मैचों में 143 की स्ट्राइक रेट से 3204 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने एक शतक और 13 अर्धशतक लगाए।

अपने संन्यास की घोषणा उन्होंने सोशल मीडिया पर की। उन्होंने ट्वीट में कहा कि उनको आज भी वह दिन याद है, जब उनके कंधों पर टीम इंडिया की जर्सी पहली बार पहनाई गई थी। यह केवल एक जर्सी नहीं थी, बल्कि इस जर्सी के रूप में टीम इंडिया के सदस्य होने के नाते मेरे परिवार, मेरे दोस्त, कोच और देशवासियों की मुझसे एक खिलाड़ी होने के नाते जुड़ी उम्मीदों का बड़ी जिम्मेदारी थी। उन्होंने अपने इस ट्वीट में साझा किये एक लेटर में कई भूली बिसरी यादों और सचिन तेंदुलकर के साथ के खास पलों को भी साझा किया है।

Next Story