Top
undefined

यूपी में बढ़ते अपराधों को लेकर अखिलेश यादव का सीएम योगी पर हमला

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखीमपुर खीरी में एक किशोरी के साथ दुष्कर्म की वारदात और फिर उसकी निर्मम हत्या पर योगी आदित्यनाथ की सरकार को कठघरे में खड़ा किया है।

यूपी में बढ़ते अपराधों को लेकर अखिलेश यादव का सीएम योगी पर हमला
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे अपराधों और महिला विरोधी अत्याचार एवं अपराधिक घटनाओं को लेकर समाजवादी पार्टी मौजूदा राज्य सरकार पर लगातार हमलावर साबित हो रही है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ब्राह्मणों के खिलाफ हो रहे अपराधों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार को घेरने का काम किया तो अब उन्होंने महिलाओ और युवतियों के साथ ही मासूम बच्चियों के साथ घट रही घटनाओं की निंदा करते हुए सरकार पर निशाना साधते हुए लखीपुर खीरी की घटना को जोर शोर से उठाने का काम किया है।

राज्य में हाल के दिनों में हुई कुछ अपराधिक घटनाओं को लेकर विपक्ष भाजपा और उसकी सरकारों के कामकाज को लेकर आवाज बुलन्द करता नजर आया है। अब समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखीमपुर खीरी में एक किशोरी के साथ दुष्कर्म की वारदात और फिर उसकी निर्मम हत्या पर योगी आदित्यनाथ की सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। श्री यादव ने आज ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में एक बेबस किशोरी से दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या इंसानियत को झकझोर देने वाली घटना है। भाजपा के शासनकाल में उत्तर प्रदेश में महिलाओं व बच्चियों का उत्पीड़न चरम पर है। उन्होंने सवाल उठाया कि दुष्कर्म, अपहरण, अपराध व हत्याओं के मामले में भाजपा सरकार प्रश्रयकारी क्यों बनी है। पिछले शुक्रवार को लखीमपुर खीरी के ईसानगर इलाके में 13 साल की बच्ची का शव गन्ने के खेत से बरामद हुआ था, जिसकी दुष्कर्म के बाद जीभ काट दी गई और उसकी आंख भी बाहर आ गई थी तथा पूरे चेहरे को बुरी तरह से वीभत्स कर दिया गया था। अखिलेश यादव के इस ट्वीट को समाजवादी पार्टी ने सोशल मीडिया के सहारे आगे बढ़ाया है। समाजवादी पार्टी के इस ट्वीट में कहा गया है कि जनपद खीरी में मासूम बच्ची के साथ हुई दरिंदगी दहला देती है! जिसे शब्दों में बयां भी नहीं किया जा सकता। सरकार को, समाज को, पुलिस व्यवस्था को अपने अंदर झांकना होगा आखिर क्यों बेटियों की सुरक्षा की बात सिर्फ दिखावा मात्र नजर आती? क्यों अपराधियों को कानून का डर नहीं? समाजवादी पार्टी ने इस घटना को लेकर कड़ी निंदा जाहिर करते हुए सरकार से दोषियों को मिले महादंड देने की मांग की है।

Next Story