Top
undefined

शामली पहुंचा बीएसएफ के जवान का शव, पत्नी बोली-पति की हुई हत्या, ग्रामीणों में आक्रोश

जवान विकास का गोली लगा शव रविवार को पश्चिम बंगाल के बाॅर्डर पर मिला था। इसके बाद बीएसएफ ने इसको आत्महत्या बताया।

शामली पहुंचा बीएसएफ के जवान का शव, पत्नी बोली-पति की हुई हत्या, ग्रामीणों में आक्रोश
X


शामली। बाॅर्डर सिक्युरिटी फोर्स ;बीएसएफद्ध जवान का पार्थिव शरीर बुधवार को उसके पैतृक गांव लांक पहुंचा तो ग्रामीणों में आक्रोश नजर आया। अपने पति के शव के साथ यहां पहुंची पत्नी ने ग्रामीणों के सामने आरोप लगाया कि उसके पति की हत्या की गयी है। जबकि बीएसएफ ने जवान की इस मौत को आत्महत्या बताया है। इस जवान की मौत को लेकर कई दिनों से शामली जनपद में तनाव जैसी स्थिति बनी हुई है। ग्रामीणों ने जवान के शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार किया तो पुलिस प्रशासन में हड़कम्प मच गया। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी ग्रामीणों को समझाने में जुटे हुए हैं। बीएसएफ के अफसर भी जवान के पार्थिक शरीर के साथ यहां पहुंचे थे।

ज्ञात रहे कि शामली जनपद के लांक निवासी विकास कल्याण बीएसएफ में तैनात हैं। उनकी पत्नी पेम्पा मेहता भी बीएसएफ में ही तैनात है। जवान विकास का गोली लगा शव रविवार को पश्चिम बंगाल के बाॅर्डर पर मिला था। इसके बाद बीएसएफ ने इसको आत्महत्या बताया। मंगलवार को विकास के शव आने की जानकारी परिजनों को दी गयी थी, लेकिन शव बुधवार को सुबह आया था। इस मामले में विकास की पत्नी पेम्पा ने ही अपने ससुर को रविवार को फोन कर सूचना दे दी थी।

आज जब बीएसएफ के दरोगा विकास कल्याण के शव के साथ गांव पहुंचे तो उनको विकास के परिजनों के साथ ही ग्रामीणों के भी तीखे सवालों का सामना करना पड़ा। विकास की पत्नी पेम्पा ने सीधे तौर पर उसके पति की हत्या होने के आरोप लगाये और जांच की मांग की है। वही विकास के पिता ने भी बीएसएफ के अफसर से कई सवाल पूछे और बीएसएफ के द्वारा इस घटना को लेकर तथ्य छिपाने के आरोप लगाये हैं। विकास का शव पहुंचने के कारण गांव में शोक का वातावरण बना हुआ है। ग्रामीणों ने विकास का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया था। इससे पुलिस प्रशासन में हड़कम्प मच गया। पुलिस और प्रशासन के अफसर भी गांव में पहुंच गये थे। ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया जा रहा था।

Next Story