Top
undefined

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020-लखनऊ का देश में 12वां नम्बर, इन्द्रमणि के प्रयास हुए सफल

लखनऊ को देश का 12वां सबसे स्वच्छ शहर बनाने की नींव रखने वाले अफसर इन्द्रमणि त्रिपाठी ही इस जश्न की तस्वीर से गायब थे।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020-लखनऊ का देश में 12वां नम्बर, इन्द्रमणि के प्रयास हुए सफल
X

लखनऊ। स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज स्वच्छता सर्वेक्षण-2020 के परिणाम जारी कर दिये। इसमें उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की तस्वीर स्वच्छता के पैमाने पर काफी निखरी नजर आईं। लखनऊ ने देश में 12वां स्थान हासिल किया। इस सफलता का जश्न लखनऊ नगर निगम में आज मेयर और नगर आयुक्त के साथ अधिकारियों व कर्मचारियों ने मनाया, लेकिन लखनऊ को देश का 12वां सबसे स्वच्छ शहर बनाने की नींव रखने वाले अफसर इन्द्रमणि त्रिपाठी ही इस जश्न की तस्वीर से गायब थे।

बता दें कि भारत सरकार की ओर से गुरूवार को स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 का रिजल्ट घोषित किया गया। इस दौरान सरकार द्वारा जारी की गयी स्वच्छ सर्वेक्षण सूची में लखनऊ शहर को देश में 12वां नम्बर मिला। यूपी का कोई भी शहर टाॅप 10 में स्थान पाने सफल नहीं हो पाया, लेकिन लखनऊ ने 12वां नम्बर पाकर इस खालीपन को भरने का काम किया है। देश में पहला स्थान इंदौर को मिला तो दूसरे स्थान पर सूरत, तीसरे पर नवी मुंबई रहे। इसके बाद विजयवाड़ा चैथे, अहमदाबाद पांचवे, छराजकोट छठे, भोपाल सातवें, चंडीगढ़ आठवें, जीवीएमसी विशाखापत्तनम नौवें और गुजरात के वडोदरा शहर को दसवें स्थान पर रखा गया। लखनऊ से पहले नासिक ने 11वां स्थान पाया।

ज्ञात रहे कि लखनऊ नगर निगम को मिली इस उपलब्धि में यूं तो अधिकारी से लेकर कर्मचारी वर्ग तक सभी का योगदान है, लेकिन इसकी नींव यहां नगर आयुक्त रहे इंद्रमणि त्रिपाठी ने ही डाली थी। आज यहां नगर आयुक्त का काम अजय द्विवेदी देख रहे हैं। हाल ही में इंद्रमणि त्रिपाठी का शासन ने तबादला कर उनको नगर विकास विभाग में सचिव बनाया है। लखनऊ नगर निगम में नगर आयुक्त रहे इंद्रमणि त्रिपाठी का यहां मेयर संयुक्ता भाटिया से विवाद चलता रहा, यहां संसाधन और बजट की भी खामी रही, लेकिन इस सभी चुनौतियों का सामाना करते हुए नगर आयुक्त ने बेहतरीन टीम वर्क के साथ निगम को इस उपलब्धि तक पहुंचाने का काम किया है। उन्होंने कचरा प्रबंधन पर विशेष जोर दिया और लखनऊ को स्मार्ट सिटी बनाने में जुटे रहे।

Next Story