Top
undefined

क्या है लैमनग्रास? और ये हैं इसके अचूक फायदे

क्या है लैमनग्रास? और ये हैं इसके अचूक फायदे
X

लेमनग्रास पाचन को बेहतर करने में कारगर है क्योंकि इसमें एंटी-आक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। इसके सेवन से पेट संबंधी सभी समस्याएं जैसे कि पेट में ऐंठन, अपच, दस्त, कब्ज, उल्टी, आदि दूर हो जाती हैं। साथ ही पाचन तंत्र भी मजबूत होता है।

आजकल लेमनग्रास का सेवन काफी चलन में है। इसके अनेक फायदे के चलते लोगों ने अपने घरों में इसका पौधा भी लगाना शुरू कर दिया है। यह एक ऐसा पौधा है जिसका इस्तेमाल कई सालों से औषधि के रूप में होता आ रहा है। ज्यादातर घरों में इसका इस्तेमाल चाय, सूप, आदि में किया जाता है, क्योंकि इसमें नींबू जैसी खुशबू होती है। साथ ही इसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी, एंटी-फंगल व एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए बेहद लाभदायक होते हैं। खासकर कैंसर जैसी घातक बीमारी में लेमनग्रास असरदायक माना गया है। इसके अलावा यह शरीर की इम्यूनिटी को भी बढ़ाता है।

क्या है लैमनग्रास?

एक साधारण सी दिखने वाली घास, जो कि घास से लंबी होती है, वह लैमनग्रास है। इसके अनेक स्वास्थ लाभ है। यह आम घास सी दिखने वाली, शरीर के लिए बड़े काम की होती है। लेमनग्रास आयरन, विटामिन ए, विटामिन सी, फोलेट एसिड, फास्फोरस, आदि महत्वपूर्ण तत्वों से भरपूर एक औषधि है। साथ ही, लोग अपने घरों से मच्छरों को भगाने के लिए भी लेमनग्रास का पौधा लगाते हैं।

वजन घटाने में फायदेमंद-

यदि आप अपना वजन तेजी से घटाना चाहते हैं तो, लेमनग्रास का सेवन जल्द शुरू करे, क्योंकि इसके सेवन से आपका मेटाबालिजम बढ़ता है जिससे वजन जल्दी कम होता है। यह हमारे शरीर से अनावश्यक चर्बी को घटाता है और इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करता है। इस घास से बनी चाय का सेवन डिटाक्स टी के रूप में किया जाता है।

पेट के लिए फायदेमंद-

हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है लेमनग्रास पाचन को बेहतर करने में कारगर है क्योंकि इसमें एंटी-आक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। इसके सेवन से पेट संबंधी सभी समस्याएं जैसे कि पेट में ऐंठन, अपच, दस्त, कब्ज, उल्टी, आदि दूर हो जाती हैं। साथ ही पाचन तंत्र भी मजबूत होता है।

कैंसर रोग में लाभकारी-

लेमनग्रास में कैंसररोधी गुण होते हैं, जो कैंसर सेल्स को खत्म करने की अहम भूमिका निभाते हैं। इस घास में एक खास तत्व होता है जिसे सिट्राल कहते हैं। यह तत्व कैंसर सेल्स को शुरुआती अवस्था में रोकने में मदद करता है। यदि रोजाना चाय में लेमन ग्रास डालकर लिया जाए तो इससे कैंसर का खतरा बेहद कम हो सकता है।

बैड कोलेस्ट्राल को करता है कम-

लेमनग्रास में कैंसर सहित कई बीमारियों से छुटकारा दिलाने वाले गुण होते हैं। इसलिए इसका सेवन करना दिल के लिए भी काफी फायदेमंद है। क्योंकि इसके सेवन से शरीर में मौजूद बैड कोलेस्ट्राल जिसे एलडीएल भी कहा जाता है, वह कम होता है। शरीर में एलडीएल का स्तर बढ़ने से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

सर्दी खांसी और फ्लू में गुणकारी-

यह तो आप जानते हैं कि लेमन ग्रास में एंटी-बैक्टीरियल व एंटी-फंगल गुण होते हैं, जो सर्दी खांसी, कफ और बुखार में फायदेमंद होते हैं। सर्दी-खांसी और फ्लू के दौरान, लेमनग्रास की चाय पीना लाभकारी होता है।

कब ना करें लैमनग्रास का सेवन?

लैमनग्रास के वैसे तो अनेक व अचूक फायदे हैं। लेकिन इसके इस्तेमाल पर कुछ पाबंधियां जरूर है, जिन्हें आपको अवश्य जानना चाहिए।

- गर्भवती महिलाएं और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसके सेवन से माहवारी शुरू हो जाती है और गर्भपात का खतरा रहता है।

- जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो, तो उन्हें लेमनग्रास का इस्तेमाल करने से पहले डाक्टर की सलाह लेना जरूरी है। कुछ लोगों को एलर्जी, खुजली, गले में सूजन आदि की शिकायत भी हो सकती है।

- किसी भी चीज का अधिक सेवन अच्छा नहीं होता। इसलिए इसके अधिक मात्रा का इस्तेमाल से अधिक पेशाब आना, थकान आदि तकलीफ हो सकते हैं।

Next Story