Top
undefined

गुड़ और ब्राउन शुगर में है अंतर, सेहत के लिए यह इंग्रीडिएंट है ज्यादा फायदेमंद

गुड़ और ब्राउन शुगर में है अंतर, सेहत के लिए यह इंग्रीडिएंट है ज्यादा फायदेमंद
X

ब्राउन शुगर और गुड़ दोनों को बनाने का तरीका काफी अलग होता है। जहां ब्राउन शुगर को रिफाइंड शुगर से बनाया जाता है तो वहीं गुड़ को अनरिफाइंड शुगर से बनाया जाता है। ब्राउन शुगर में सेंट्रीफ्यूजिंग मिलता है, जबकि, गुड़ में अलग से कोई चीज मिलाई नहीं जाती है।

एक सेहतमंद शरीर बनाए रखने के लिए आजकल ज्यादातर लोग अपने खानपान का खास ख्याल रख रहे हैं। कितनी मात्रा में नमक का सेवन करें या मीठा में कौनसा शुगर खाएं, इसे लेकर भी सावधानी बरत रहे हैं। हालांकि, जब बात आती है शुगर की तो ये बाजारों में कई तरह के दावों के साथ मिलती है। अलग-अलग वैरायटी के शुगर में ब्राउन शुगर और गुड़ भी शामिल है, जो कम मीठे और शरीर पर कम असर करने के लिए जाना जाते हैं।

ब्राउन शुगर और गुड़ का सेवन करने वाले अधिक्तर लोगों के लिए सबसे बड़ी समस्या तब बढ़ती है जब उनके लिए इन दोनों में अंतर करना मुश्किल हो जाता है। दरअसल, पिसा गुड़ और ब्राउन शुगर दोनों का रंग और स्वाद एक जैसा होता है, लेकिन दोनों में से कौन सा ज्यादा हेल्दी इसके बारे में कम ही लोग जानते हैं। वहीं, आज हम आपको ब्राउन शुगर और गुड़ में अंतर बताने के साथ ही ये भी बताने जा रहे हैं कि आपकी डाइट में शामिल करने के लिए दोनों में से कौनसा इंग्रीडिएंट हेल्दी विकल्प रहेगा, आइए जानते हैं।

ब्राउन शुगर और गुड़ बनाने का तरीका है अलगः ब्राउन शुगर और गुड़ दोनों को बनाने का तरीका काफी अलग होता है। जहां ब्राउन शुगर को रिफाइंड शुगर से बनाया जाता है तो वहीं गुड़ को अनरिफाइंड शुगर से बनाया जाता है। ब्राउन शुगर में सेंट्रीफ्यूजिंग मिलता है। जबकि, गुड़ में अलग से कोई चीज मिलाई नहीं जाती है। हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि गुड़ और ब्राउन शुगर दोनों को गन्ने के रस से ही बनाया जाता है, लेकिन ब्राउन शुगर को बनाने के लिए चारकोल का भी प्रयोग किया जाता है।

ब्राउन शुगर नहीं है शाकाहारीः विशेषज्ञों के अनुसार ब्राउन शुगर शाकाहारी नहीं होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि ब्राउन शुगर में रिफाइनमेंट चारकोल का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं गुड़ को शाकाहारी माना जाता है, क्योंकि ये सिर्फ गन्ने के रस से बनाया जाता है।

ब्राउन शुगर और गुड़ के मीठे में है फर्कः ब्राउन शुगर और गुड़ दोनों के मिठास में भी फर्क होता है, लेकिन इसके बारे में ज्यादा लोगों को पता नहीं चल पाता है। ब्राउन शुगर की तुलना में गुड़ कम मीठा होता है। ब्राउन शुगर एक ही रंग में मिलता है लेकिन गुड़ के विभन्न रंग हैं, जो हल्के भूरे से गहरे भूरे तक हो सकते हैं। बता दें कि ब्राउन शुगर मूल रूप से सफेद चीनी ही होती है इसमें गुड़ को पिसकर मिलाया जाता है।

ज्यादा हेल्दी गुड़ या ब्राउन शुगर?ः ब्राउन शुगर और गुड़ में क्या-क्या अंतर होते हैं, इसके बारे में तो आपको जानकारी हो ही गई होगी। वहीं, अब सवाल ये आता है कि दोनों में से सबसे ज्यादा हेल्दी कौन सा इंग्रीडिएंट है। जिसका सेवन करना हमारे शरीर के लिए अधिक फायदेमंद हो सकता है? हालांकि, ये आप अंतर जानने के बाद जान ही गए होंगे कि गुड़ हमारे लिए ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि ब्राउन शुगर की तुलना में गुड़ ज्यादा हेल्दी है। वहीं, अगर आप ब्राउन शुगर का सेवन करना चाहते हैं तो इसका सेवन काफी कम मात्रा में ही करें। भले ही बाजारों में आपको गुड़ ठोस रूप में मिलता है, लेकिन आप इसे घर में पिसकर ब्राउन शुगर के जैसा पाउडर बना सकते हैं। आप गुड़ का इस्तेमाल चाय, भोजन या कोई मिठाई बनाने में कर सकते हैं। इससे खाने का स्वाद तो बढ़ेगा ही साथ ही आपके सेहत के लिए भी ये फायदेमंद साबित होगा।

गुड़ में मौजूद हैं कई गुणः गुड़ हमारे सेहत के लिए काफी अच्छा होता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि इसमें आयरन, ग्लूकोज, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नेशियम, सुक्रोज, जस्ता, विटामिन- ए और बी जैसे गुण मौजूद हैं। कई तरह के जरूरी गुण मौजूद होने के कारण गुड़ का सेवन करना शरीर के लिए बेहद अच्छा रहता है। ये त्वचा के लिए प्राकृतिक क्लींजर का भी काम करता है। इतना ही नहीं, ये शरीर के तापमान को भी काबू रखने में मददगार साबित है।

Next Story